पहली तिमाही में चीन की विकास दर 7.4 फ़ीसदी हुई

इमेज कॉपीरइट REUTERS

साल 2014 की पहली तिमाही में चीनी अर्थव्यस्था की विकास दर 7.4 फ़ीसदी दर्ज की गई है. यह उम्मीद से बेहतर परिणाम है.

लेकिन यह पिछले साल के अंतिम तिमाही के 7.7 फ़ीसदी की विकास दर से कम है.

अन्य आंकड़ों के साथ जारी किए सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के आंकड़ों के मुताबित मार्च में औद्योगिक उत्पादन पिछले साल के मुक़ाबले बढ़कर 8.8 फ़ीसदी हो गया है.

मार्च में खुदरा बिक्री बढ़कर 12.2 फ़ीसदी हो गई है, चीन ने घरेलू खपत से आर्थिक वृद्धि को रफ़्तार देने की योजना बनाई है.

पिछले साल चीन ने 2014 के लिए साढ़े सात फ़ीसदी की विकास दर का लक्ष्य रखा था. कई सालों की तेज़ी के बाद चीन ने अपनी अर्थव्यवस्था को स्थिर रखने के लिए यह लक्ष्य तय किया था.

विकास का लक्ष्य

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

चीन के विकास संबंधी इन आंकड़ों पर पूरे क्षेत्र में क़रीबी नज़र रखी जाती है. मंदी से एशियाई अर्थव्यव्स्थाओं को नुक़सान पहुंच सकता है, ख़ासकर उन्हें जो जिंसों का निर्यात करते हैं.

चंद्र नववर्ष की छुट्टियों में जब अधिकांश व्यापारिक प्रतिष्ठान और कारखाने दो हफ़्ते के लिए बंद रहते है, ऐसे में साल के शुरू में एक धीमी शुरुआत असामान्य बात नहीं है.

लेकिन हाल के दिनों में निर्माण और अद्योगिक क्षेत्र ने कमजोर नतीजे दिखाए थे. इससे लंबी मंदी की आशंका बढ़ गई थी.

इन चिंताओं को देखते हुए चीन ने हाल ही में अपनी अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए कई क़दम उठाए थे.

चीन ने इस महीने के शुरू में छोटे प्रोत्साहन उपायों की घोषणा की थी, इसके तहत छोटे और मंझोल दर्ज के उद्यमियों को कर में छूट देने और रेल नेटवर्क पर ख़र्च बढ़ाने की घोषणा की गई थी.

इस साल जनलरी में चीन ने शंघाई में कर मुक्त व्यापार क्षेत्र शुरू किया था. इसे अर्थव्यवस्था के प्रमुख क्षेत्रों में सुधार के रूप में देखा गया था, ख़ासकर वित्त और टेलीकॉम सेक्टर को, जिस पर पहले सरकार का कड़ा नियंत्रण था.

करों में छूट

चीन ने यह भी कहा था कि वह विदेशी कंपनियों को कर मुक्त इलाक़ो में गेमिंग कंसोल बनाने और उन्हें चीन में भी बेचने देने की इजाज़त दी थी. इसके साथ ही चीन ने गेमिंग कंसोल पर साल 2000 में लगाए गए प्रतिबंध को हटा लिया था.

विश्लेषकों को उम्मीद है कि चीन की अर्थव्यस्था मंदी से उबर जाएगी और इस साल के आने वाले महीनों में अच्छा प्रदर्शन करेगी.

कैपिटल इकोनामिक्स के जुलियां इवांस प्रिचार्ड ने कहा, ''चीनी अर्थव्यवस्था ने पिछली तिमाही के अनुमान से बेहतर प्रदर्शन किया है. यहां इस बात के भी संकेत हैं कि उसके विकास पर पड़ा रहा दबाव कुछ हद तक कम हुआ है.''

चीन के व्यापारिक आंकड़ों को देखने से पता चलता है कि मार्च में आयात और निर्यात में तेज़ी से गिरावट दर्ज की गई.

इस महीने के शुरुआत में विश्व बैंक ने चीनी अर्थव्यस्था की विकास दर के अनुमान को घटा कर इस साल के लिए 7.6 फ़ीसदी कर दिया था, जो कि पिछले साल 7.7 फ़ीसदी थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार