द. कोरिया नौका हादसा: पीड़ितों का गुस्सा फूटा

  • 20 अप्रैल 2014
दक्षिण कोरिया परिवारों का रोषपूर्ण प्रदर्शन इमेज कॉपीरइट Reuters

दक्षिण कोरिया में पिछले दिनों हुए नौका हादसे में शिकार हुए लोगों के परिजनों ने धीमे बचाव कार्य पर अपना गुस्सा जाहिर करते हुए प्रदर्शन किया है.

इसबीच पुलिस ने क़रीब सौ लोगों को जिंदो प्रायद्वीप से राजधानी सियोल में आयोजित विरोध मार्च में जाने से रोक दिया. मारे गए लोगों के कई परिजन जिंदो प्रायद्वीप पर रहते हैं.

तीन दिन से अधिक वक़्त गुजर जाने के बाद आखिरकार गोताखोर जब नौका में घुसे तो उन्हें 22 लोगों के शव मिले. इसके साथ ही मरने वालों की संख्या 54 हो गई है.

राहत और बचाव अभियान के दौरान अब तक 174 लोगों की जान बचायी जा चुकी है.

सैकड़ों लोग द्वीप पर एक जिम में डेरा डाले हुए हैं और बचाव अभियान की खबरों का इंतजार कर रहे हैं.

यहां उस वक़्त भगदड़ की स्थिति बन गई जब कुछ परिवारों के सदस्यों ने मुख्य भूमि जाने के लिए एक पुल को पार करने की कोशिश की. कथित तौर पर इसका मक़सद उत्तर में 420 किमी की दूरी पर स्थित सियोल में राष्ट्रपति भवन की तरफ मार्च करने का था.

इमेज कॉपीरइट Reuters

प्रदर्शनकारियों में शामिल एक महिला चिल्ला रही थी, "मेरे बच्चे का शरीर ला दो ताकि मैं उसका चेहरा देख सकूँ और उसे गले ला सकूँ."

लापता यात्री सत्रह वर्षीय ली जंग-इन के पिता ली वून-ग्युन ने कहा कि, "हम बचाव कार्य के प्रभारी से इस बारे में जवाब चाहते हैं कि आखिर क्यों आदेश नहीं दिए जा रहे हैं और कुछ भी नहीं किया जा रहा है. वे स्पष्ट रूप से झूठ बोल रहे हैं और एक-दूसरे पर जिम्मेदारी डाल रहे हैं."

चिंता

इमेज कॉपीरइट AP

मारे गए लोगों के रिश्तेदार को शवों के सड़ने की आशंका है. इसलिए वो चाहते हैं कि जल्द से जल्द शव उन्हें सौंप दिए जाएं.

बीबीसी के जोनाथन हेड का कहना है कि अधिकारी चिंतित हैं कि ये विवाद कहीं एक राष्ट्रीय राजनीतिक मुद्दे में न बदल जाएँ और सरकार को नुकसान न पहुँचा दे.

हमारे संवाददाता का कहना है कि लगभग 200 छोटी नाव, 34 विमान और 600 गोताखोर खोज अभियान में लगे हुए हैं.

इमेज कॉपीरइट AFP

लेकिन समुद्र की तेज लहरों और कमजोर दृश्यता की वज़ह से खोज अभियान में काफ़ी दिक्कतें आ रही हैं.

तटरक्षा अधिकारी कोह म्युंग-सिओक ने संवाददाताओं को बताया कि गोताखोर नौका डूबने की जगह से कई दिशाओं में तलाशी कर रहे हैं और विभिन्न स्थानों पर शव मिल रहे हैं.

शुक्रवार को चालक दल के दो सदस्यों के साथ 69 वर्ष कप्तान ली जून-सिओक को गिरफ़्तार किया गया था. उनके ऊपर कर्तव्यपालन में लापरवाही और समुद्री कानून के उल्लंघन का आरोप लगाया गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार