दक्षिण कोरिया नौका हादसा: गफ़लत में गई जानें

  • 21 अप्रैल 2014
नौका हादसे में मारे गए लोग इमेज कॉपीरइट AP

बुधवार को डूबी नौका के चालक दल और यातायात सेवाओं के बीच हुई बातचीत से पता चला है कि चालक दल के सदस्य बुरी तरह घबरा गए थे और सही समय पर निर्णय नहीं ले पाए थे.

बातचीत का सार ये है कि नौका पर सवार लोगों को समय रहते सुरक्षित तरीके से नहीं निकाला जा सका जिसकी वजह से अधिकतर लोगों की डूबकर मौत हो गई.

नौका के कप्तान को गिरफ़्तार किया जा चुका है जिन्होंने माना है कि नौका खाली करने का आदेश देने में उनसे देर हुई थी क्योंकि उन्हें यात्रियों के डूबकर बह जाने का डर था.

हादसे के तीन दिन बाद गोताख़ोर डूबी हुई नौका में दाख़िल हो गए हैं जहां उन्हें 26 शव मिले हैं.

सिवोल नाम की यह नौका उत्तर पश्चिम में सोल बंदरगाह से दक्षिण में जेजू द्वीप की ओर जा रही थी. हादसे के वक्त इस पर 476 लोग सवार थे.

इनमें 399 बच्चे और शिक्षक भी शामिल हैं जो स्कूल की एक ट्रिप पर जा रहे थे.

इसके साथ ही मृतकों की संख्या बढ़कर 58 हो गई है, जबकि 244 अन्य लोग अभी भी लापता हैं. लगभग 174 लोगों को बचाया गया है.

अनिर्णय की स्थिति

नौका डूबने से पहले चालक दल और कंट्रोलर के बीच हुई बातचीत का अंश जारी किए गए हैं जिसने साफ़ पता चलता है कि सही समय पर निर्णय लेने में देरी हुई. बातचीत का कुछ ब्योरा इस प्रकार है:

कंट्रोलर: कृपया बाहर निकलें और यात्रियों को लाइफ़ जैकेट पहनने दें.

क्रू मेम्बर: नौका को खाली कराते हैं तो क्या आप इन लोगों को निकाल सकेंगे?

कंट्रोलर: उन्हें कम से कम लाइफ़ रिंग्स तो दें और उन्हें निकलने दें.

क्रू मेम्बर: यदि नौका को खाली कराया गया तो क्या लोगों को बचा लिया जाएगा?

कंट्रोलर: उन्हें ऐसे ही मत निकालो. लाइफ रिंग्स दो. हमें हालात के बारे में बहुत अच्छे से नहीं पता. अंतिम फ़ैसला कप्तान को करना है.

क्रू मेम्बर: मैं इस बारे में बात नहीं कर रहा हूं. मैं कह रहा हूं कि यदि इन लोगों को निकाला गया तो क्या उन्हें बचा लिया जाएगा.

इमेज कॉपीरइट Getty

जांचकर्ता अब इस ओर ध्यान दे रहे हैं कि नौका को बहुत तेज़ी से मोड़ा गया था जिसकी वजह से वो पलट गई थी.

इमेज कॉपीरइट Reuters

पड़ताल इस बात की भी की जा रही है कि क्या नौका को समय रहते ख़ाली करा लिया जाता तो लोगों की जान बचाई जा सकती थी.

कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि नौका को तेज़ी से मोड़ने की वजह से उसका संतुलन बिगड़ा होगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार