रूस पर और प्रतिबंध लगाने की चेतावनी

पूर्वी यूक्रेन में एक रूसी समर्थक इमेज कॉपीरइट AP

अमरीकी विदेश मंत्री जॉन कैरी ने यूक्रेन में जारी तनाव कम न करने की स्थिति में रूस पर और प्रतिबंध लगाने के चेतावनी दी है.

रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लॉवरोव से टेलीफ़ोन पर वार्ता के दौरान कैरी ने "रूस की तरफ़ से सकारात्मक क़दम नहीं उठाए जाने पर कमी चिंता जताई."

रूस ने पिछले सप्ताह के हुए जिनेवा समझौते की नाकामी के लिए यूक्रेन के नेताओं को दोषी ठहराया है.

यूक्रेन के कार्यकारी राष्ट्रपति एलेक्ज़ेंडर तुर्चिनोव ने देश के पूर्व में रूस समर्थक चरमपंथियों के ख़िलाफ़ सैन्य अभियान फिर से शुरू करने का आदेश दिया है.

उन्होंने कहा कि एक स्थानीय नेता सहित दो लोगों को यातना देकर मारा गया है. तुर्चिनोव ने कहा, "जिन चरमपंथियों ने पूरे दोनेत्स्क शहर को बंधक बना रखा है अब वे हद से आगे निकल गए हैं."

'रूस पर और प्रतिंबध'

पूर्वी यूक्रेन के कम से कम नौ शहरों और कस्बों में सार्वजनिक भवनों पर अलगाववादियों ने क़ब्ज़ा कर रखा है.

अमरीका और पश्चिमी देशों का आरोप है कि रूस अपनी गुप्त सेना के ज़रिए अलगाववादियों की मदद कर रहा है.

हालांकि रूस ने इन आरोपों के इनकार किया है.

अमरीकी विदेश मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक़ कैरी ने लावरोव से बातचीत में कहा कि रूस को पूर्वी यूक्रेन में कूटनीतिक समाधान का रास्ता निकालने और सार्वजनिक बयान जारी करके भवनों पर क़ब्ज़ा करने वाले चरमपंथियों से हथियार डालने के लिए कहना चाहिए.

चेतावनी

इमेज कॉपीरइट Reuters

अधिकारी ने कहा, "कैरी ने यह बात भी दोहराई कि जिनेवा समझौतेको लागू करने में पर्याप्त क़दम नहीं उठाने का असर रूस पर और प्रतिबंधों के रूप में सामने आएगा."

कैरी की चेतावनी ऐसे समय आई है जबकि अमरीका के उप राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कीएफ़ में यूक्रेन के नए नेताओं के साथ मुलाक़ात की.

बाइडेन ने भी रूस से यूक्रेन संकट को ख़त्म करने के लिए 'बातें करने के बजाए काम करने' को कहा है.

अमरीका यूक्रेन में राजनीतिक और आर्थिक सुधारों के लिए अतिरिक्त पांच करोड़ डॉलर की अतिरिक्त सहायता मुहैया कराएगा जिसमें 25 मई से होने वाले राष्ट्रपति चुनावों के लिए 1.1 करोड़ डॉलर की सहायता शामिल है.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार