78 वर्षों बाद जुड़वा बहनों का मिलन

इमेज कॉपीरइट

कल्पना कीजिए कि आप अपने परिवार का इतिहास खंगाल रहे हों और आपको पता चले कि आपका कोई जुड़वा भाई या बहन है.

78 साल एन्न हंट के साथ यही हुआ. एक साल पहले तक उन्हें मालूम नहीं था कि उनके कोई भाई-बहन भी है. दोनों जुड़वा बहनें तब जुदा हो गई थीं जब उन्होंने चलना भी नहीं सीखा था और क़रीब आठ दशक बाद अब उनका मिलन हुआ है. यह अपने आपमें एक नया विश्व रिकॉर्ड है.

पिछले साल अप्रैल में, अमरीकी प्रांत ओरेगॉन के अल्बानी की 78 वर्षीय एलिजाबेथ घर आई डाक पर नज़र दौड़ा रही थीं. तभी उन्होंने ब्रिटेन के एल्डरशॉट से आया एक पत्र देखा. यह वही जगह थी जहां वह पैदा हुईं थीं.

हमशक्ल जुड़वा: किसने की यौन हिंसा

ख़त की शुरुआत यूं थी, ''मैं अपने पारिवारिक संपर्कों की खोजबीन कर रही हूँ और उसी संबंध में आपको यह पत्र लिख रही हूं.'' एलिजाबेथ को अहसास हो गया कि ये ख़त कहां से आया है और इसे किसने लिखा है. उन्होंने तुरंत ख़त पर दिए नंबर पर ब्रिटेन फ़ोन मिलाया.

लाइन पर दूसरी ओर एन्न थीं. बहुत पहले उनसे जुदा हो गईं उनकी जुड़वा बहन.

पुनर्मिलन

एन्न ने कहा, "मेरे पैर ज़मीन पर नहीं पड़ रहे थे. मैं बोल नहीं पा रही थी.'' एन्न ने कहा, ''मैंने ज़्यादातर एलिजाबेथ को ही बोलने दिया. मैं ख़ुद को चिंकोटी काट रही थीं, क्योंकि महसूस करना चाह रही थी कि मैं अपनी बहन को पा गई हूं. ये सब हैरानी भरा था कि मुझे ख़ुद समझ में नहीं आ रहा था. मेरे पास कहने को शब्द ही नहीं थे. मैं बहुत ख़ुश थी क्योंकि मेरे पास एलिजाबेथ थी.''

एन्न की अनभिज्ञता के बावजूद एलिजाबेथ हमेशा से जानती थीं कि उनकी एक बहन भी थी.

इमेज कॉपीरइट

''मैं बरसों से तुम्हारे लिए प्रार्थना कर रही थी,'' उन्होंने एन्न से पहली ही बातचीत में कहा. दरअसल एलिजाबेथ ने कई सालों तक अपनी बहन को तलाशने की कोशिश की. लेकिन वह कामयाब नहीं हो पाईं. फिर उन्हें ये कमोवेश असंभव लगने लगा.

एलिजाबेथ ने कहा, ''मैंने सोचा गोद लिए जाने के बाद वह दुनिया में कहीं भी हो सकती है. लेकिन ये हैरानी भरा था कि वह अब भी एल्डरशॉट में रहती है.''

एक मई 2014 को मिलन

पहली बातचीत होने के एक साल बाद और जुदा होने के 78 साल बाद, एक मई 2014 को एन्न और एलिजाबेथ का लास एंजिल्स के पास फुलर्टन में मिलन हुआ. गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स के अनुसार ये बिछड़ने के सबसे लंबे समय बाद मिलन का रिकॉर्ड था.

दो दशकों से कहीं ज़्यादा समय से जुड़वा भाई-बहनों पर शोध कर रही मनोवैज्ञानिक डॉक्टर नैंसी सीगल ने उन्हें आमंत्रित किया था.

वैज्ञानिकों को हमेशा से अलग-अलग माहौल में पले बढ़े जुड़वा भाई-बहनों के व्यवहार में वंशानुगत या जैवकीय प्रभावों के बारे में जानने में दिलचस्पी रही है.

वो गांव जहां जुड़वा बच्चों की भरमार है

सीगल ने भी दो दिन के अध्ययन में दोनों की समानताओं और असमानताओं के बारे में अध्ययन किया. उनके डीएनए विश्लेषण से ये स्थापित करने की कोशिश की वो एक सरीखी हैं या असमरूप जुड़वा हैं.

एलिजाबेथ ने आत्मविश्वास से कहा, ''मैं अपनी बहन से 20 मिनट बड़ी हूं. इसे आमतौर पर जुड़वा ही कहा जाता है."

एलिजाबेथ ने जहां इस अध्ययन में बढ़कर हिस्सा लिया वहीं एन्न के लिए सबसे बडी बात ये थी कि उन्होंने बरसों पहले बिछड़ी बहन से ज़ोरदार आलिंगन किया. ''मैं ख़ुशी के मारे फूली नहीं समा रही थी.''

एल्डरशॉट में जन्म

इमेज कॉपीरइट

दोनों जुड़वा बहनें एलिजाबेथ एन्न लैंब और पैट्रिशिया सूसन लैंब 28 फरवरी 1936 में एल्डरशॉट, ब्रिटेन में पैदा हुईं थीं. उनकी मां एलिस अलेक्जेंडर पैशंस लैंब अविवाहित थीं. वह घर में खाना बनाने का काम करती थीं. पिता का नाम पीटर्स था. वह एल्डरशॉट छावनी में सैनिक के रूप में तैनात थे. हालांकि उन्होंने कभी अपनी बेटियों को नहीं देखा.

एन्न हंट को एल्डरशॉट में हेक्टर विल्सन और उनकी पत्नी ग्लैडी ने गोद ले लिया था. हेक्टर पोस्ट ऑफिस कैंटीन में मैनेजर के रूप में काम करते थे.

जब एन्न 14 साल की हुईं तब उन्हें पता चला कि उन्हें गोद लिया गया है. तब उन्होंने अपनी मां से पूछा, ''मॉम, क्या आपने मुझे गोद लिया है.''

जिस्म एक, मगर सोच जुदा

मां का जवाब था, ''नहीं, हमने तुम्हें चुना है. भगवान ने तुम्हें हमारे लिए ही भेजा है. तुम्हारी मां तुम्हें साथ रखने में समर्थ नहीं थीं. इसलिए उन्होंने तुम्हें मुझे सौंप दिया. अब तुम हमारी प्यारी सी बेटी हो.''

जब उनके अभिभावकों की 2001 में मृत्यु हुई तो एन्न अपना जन्म प्रमाणपत्र लेने पंजीयन कार्यालय पहुंची. उन्होंने उनकी मां का नाम दिया गया-एलिस लैंब. पेशा- घर में खाना बनाना. वहां न तो उनका पता था. न ये जानकारी कि उनकी कोई जुड़वा बेटी भी साथ पैदा हुई थी. एलिस की उम्र भी नहीं दी गई थी.

परिवार की खोज

एन्न की छोटी बेटी सामंथा स्टेसी ने अपनी पारिवारिक पृष्ठभूमि के बारे में पता लगाने का ज़िम्मा उठाया. तब एन्न ने उससे ख़ुद को जन्म देने वाले परिवार के बारे में पता करने को कहा. ये लंबी प्रक्रिया थी.

सामंथा ने स्थानीय पेपरों में इश्तेहार दिए. ऑनलाइन फोरम पर तलाश की. जब भी वह खोज ख़त्म करतीं, तभी कुछ ऐसा होता कि प्रक्रिया फिर शुरू हो जाती.

इमेज कॉपीरइट

उन्हें आख़िरकार अपनी नानी एलिस का जन्म प्रमाण पत्र मिला. जब वर्ष 2010 में सामंथा के पति ने पूछा, उन्हें क्रिसमस पर क्या चाहिए. तब सामंथा ने कहा, "एलिस का मृत्यु प्रमाण पत्र."

आख़िरकार वर्ष 2013 में उन्हें सफलता मिली. तब पता चला कि एलिस ने 49 साल की उम्र में शादी कर ली थी. चेस्टर में जॉर्ज बर्टन के साथ. उसका एक सौतेला बेटा था अल्बर्ट, जिसकी मौत हो चुकी है.

फिर अल्बर्ट के बारे में पता करने पर पता चला कि एलिस की एक बेटी अमरीका में है. तब उन्होंने एलिजाबेथ को खोज निकाला.

एन्न याद करती हैं कि जब उनकी बेटी ने उनसे कहा कि हमने आपकी बहन को खोज निकाला है लेकिन साथ में एक बोनस भी है- वह आपकी जुड़वा बहन है.

सामंथा को डर था कि मां से ये बात कैसे कहे, क्योंकि वह तब महज एक साल की थीं, जब उन्हें गोद लिया गया था. जब उसने मां को ये बताया तो वह खुशी से झूम उठीं. वह वाकई खुश थीं.

..क्यों गोद दिया

..और फ़ोन पर बात करने के बाद एलिजाबेथ ने तुरंत एक लंबा पत्र जुड़वा बहन को लिखा कि केवल एक वर्ष की उम्र में उसे क्यों गोद दिया गया. ''दरअसल हम दोनों को ही गोद दिया जाने वाला था, तभी मां को मालूम हुआ कि मेरी रीढ में टेढ़ापन है तो उसने मुझे अपने पास रखने का फ़ैसला ले लिया.''

एलिजाबेथ कहती हैं, ''वर्ष 1936 में एक अविवाहित मां के लिए एक बेटी को रखना और नौकरी तलाशना आसान नहीं था. उन दिनों की सामाजिक मान्यताओं के हिसाब से हम दोनों अवैध संतान थे. मेरी मां घर में नौकरी करती थीं. शुरू में कुछ सालों तक मुझे मौसी के साथ रहना पडा. तब मां हफ़्ते में एक दिन मिलने आती थीं.''

''उन्होंने फिर शादी कर ली और चेस्टर चली गई.'' एलिजाबेथ तब 15 साल की थी. तब मां उनसे कहा करती थी कि उनकी एक जुड़वा बहन भी है. उन्होंने एन्न को गोद देने से जुड़े दस्तावेज़ भी दिखाए. लेकिन मां की 1980 में मौत के बाद ये दस्तावेज़ खो गए.

तमाम लोगों को इंटरव्यू देने के बाद जुडवा बहनें एलिजाबेथ के ओरेगॉन स्थित घर में चली गईं. जहां उन्होंने एक शानदार पार्टी दी, ये पार्टी एन्न और उसकी बेटी सामंथा के लिए थी-इसमें 80 क़रीबी दोस्त शामिल हुए. एन्न ने कहा, ''मुझे ऐसा लग रहा है कि मैं लिज से कभी अलग थी ही नहीं.''

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार