लीबिया में नौका डूबने से 36 अप्रवासियों की मौत

लीबिया नौका (फ़ाइल) इमेज कॉपीरइट AP
Image caption यूरोपीय देशों में घुसने की कोशिश करने वाले लोगों के लिए लीबिया एक पड़ाव है.

अधिकारियों का कहना है कि लीबिया के तट के नज़दीक एक नाव के डूब जाने से 36 लोगों की मौत हो गई है जबकि 40 अभी भी लापता बताए जा रहे हैं.

नौसेना का कहना है कि मंगलवार को जब हादसा हुआ उस वक्त नाव में 52 लोग सवार थे लेकिन जो लोग बचाए जा सके हैं उनमें से कुछ का कहना है कि यात्रियों की कुल तादाद 130 के आसपास थी.

लीबिया के आंतरिक मामलों के मंत्री ने शनिवार को दिए गए एक बयान में यूरोपीय संघ से कहा है कि वो अप्रवासियों की तादाद पर रोक लगाने के लिए क़दम उठाए.

हादसे का स्थान

हादसे में मारे जाने वाले सभी लोग अप्रवासी थे.

जानकारों का कहना है कि अफ्रीका, सीरिया और कुछ दूसरे देशों के लोग भूमध्य सागर पार कर यूरोपीय मुल्कों में पहुंचने की कोशिश करते हैं. ऐसे लोग वहां पहुंचने के लिए लीबिया का रास्ता चुनते हैं.

लीबिया की नौसेना के प्रवक्ता अयुब क़ासिम ने बीबीसी को बताया कि नाव तट से क़रीब चार किलोमीटर दूर डूबी. हादसा तटीय शहर गरोबुली के पास हुआ.

क़ासिम का कहना था कि नाव का निचला हिस्सा टूटू गया जिसकी वजह से नौका डूब गई. उनका कहना था कि कम से कम 54 लोग लापता हैं.

रविवार को 24 और शवों को निकाला गया जिसके बाद मरने वालों की कुल संख्या 36 को जा पहुंची है.

राजनीतिक अस्थिरता

प्रवक्ता का कहना था कि हादसे के शिकार हुए लोग माली, कैमरून, घाना, गांबिया और बुकरीना फासो जैसे मुल्कों के नागिरक थे.

आंतरिक मामलों के मंत्री सालेह माज़ेक ने कहा है कि लीबिया अप्रवासियों की इतनी बड़ी संख्या से नहीं निपट सकता है.

लीबिया में मुअम्मर ग़द्दाफ़ी की हुकूमत के ख़ात्मे के बाद से राजनीतिक अस्थिरता की स्थिति बनी हुई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार