ताकतवर चीनी उद्योगपति को मौत की सजा

  • 23 मई 2014
लिऊ हान, चीनी उद्योगपति इमेज कॉपीरइट

ताकतवर चीनी उद्योगपति लिऊ हान को हत्या के आरोप में मौत की सजा सुनाई गई है. माना जाता है कि उनके ताल्लुकात कभी चीन की शक्तिशाली हस्ती रहे पूर्व छानबीन प्रमुख झोऊ यांगकंग से थे.

शिन्हुआ समाचार एजेंसी के अनुसार, हुबेई अदालत ने लिऊ हान और उनके भाई लिऊ वेई को माफिया शैली में संगठित अपराध संचालित करने और हत्याओं के लिए दोषी माना है.

ये दो उन 36 लोगों में शामिल हैं, जिन्हें ऐसे अपराध में दोषी पाया गया है.

माना जा रहा है कि लिऊ को फांसी झोऊ नेटवर्क से संबंधित लोगों के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामलों में कड़ी कार्रवाई का परिणाम है.

कोर्ट ने फैसला सुनाया कि अन्य मामलों के अलावा लिऊ हान और उनका ग्रुप वित्तीय लाभ के लिए अवैध गतिविधियों में भी संलिप्त था. उन्होंने कई मौकों पर अवैध ढंग से लोगों को बंधक बनाने, नुकसान पहुंचाने के साथ हत्याओं को अंजाम दिया.

फैसले में ये भी कहा गया कि सिचुआन प्रांत के गुआनझान में उन्होंने अपने अवैध गेमिंग कारोबार को दबाने-छिपाने की कोशिश की और इस धोखाधड़ी में सरकारी कर्मचारियों को भी साथ में शामिल किया.

फोर्ब्स लिस्ट में 148वाँ नंबर

खनन समूह सिचुआन हैनलांग ग्रुप के पूर्व प्रमुख लिऊ को फोर्ब्स ने वर्ष 2012 में चीन के सबसे धनी लोगों की सूची में 148वें नंबर पर रखा गया था.

उनकी पूर्व कंपनी ने एक बार आस्ट्रेलियाई खनन क्षेत्र की कंपनी सनडेंस रिर्सोसेस लिमिटेड के अधिग्रहण की कोशिश की थी.

चीन के राष्ट्रीय मीडिया ने पहले कहा था कि सिचुआन आधारित गैंग के मजबूत राजनीतिक रिश्ते थे, जिसने लिऊ हान की नियुक्ति सिचुआन प्रांत की एक सलाहकार संस्था में प्रतिनिधि के तौर पर कराने में मुख्य भूमिका अदा की थी.

हाल के महिनों में झोऊ यांगकंग से ताल्लुक रखने वाले सिचुआन प्रांत के कई शीर्ष अधिकारी जांच के दायरे में आ गए थे.

झोऊ वर्ष 2003 में चीन के सार्वजनिक छानबीन मंत्रालय के प्रमुख बनाए जाने से पहले सिचुआन प्रांत में पार्टी के सचिव थे.

अप्रैल में चीन ने घोषणा की उसने सिचुआन के पूर्व उप राज्यपाल गुआओ यांगझियांग को पद से हटा दिया है और सिचुआन के ही पूर्व पार्टी प्रमुख ली चुनचेंग के खिलाफ घूस मामले में जांच की जा रही है.

ये अटकलें कई महीनों से थीं कि झोऊ के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामलों की जांच चल रही है. हालांकि किसी भी अफवाह की आधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं की गई थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार