गूगल यूरोप में सर्च से जानकारी हटाने को राज़ी

गूगल इमेज कॉपीरइट AFP

सर्च इंजन गूगल ने यूरोप में एक ऐसी सेवा की शुरुआत की है जिसके तहत यूरोपीय नागरिकों की मांग पर उनके निजी जीवन से संबंधी जानकारी गूगल सर्च में उपलब्ध नहीं होगी.

गूगल ने यह सेवा इसी महीने यूरोपीय संघ की सर्वोच्च अदालत के उस अहम फ़ैसले के बाद शुरू की है जिसमें लोगों को 'भूल जाने का अधिकार' दिया गया था.

13 मई को यूरोपीय संघ के कोर्ट ऑफ़ जस्टिस ने आदेश दिया था कि आग्रह करने पर ग़ैरज़रूरी और पुरानी जानकारी के पन्नों के लिंक गूगल सर्च से हटाए जाएं.

अदालत के सामने यह मामला एक स्पैनिश नागरिक लेकर आए थे जिनका कहना था कि उनके घर की नीलामी से संबंधित एक पुराना नोटिस, जो गूगल पर उपलब्ध है, उनकी निजता का हनन का करता है.

गूगल ने कहा है कि वह जानकारी हटाने के हर अनुरोध का आकलन करेगा और व्यक्ति की निजता और लोगों के जानने के अधिकार और सूचना के आवंटन के बीच संतुलन कायम करेगा.

कंपनी ने कहा, "आपके अनुरोध का आकलन करते समय हम इस बात को देखेंगे कि क्या सर्च नतीजों में आपके बारे में पुरानी जानकारी है और यह भी कि क्या इस सूचना में जनहित है."

आकलन

गूगल ने कहा कि जानकारी हटाने के अनुरोध पर फ़ैसला करते समय वित्तीय घोटालों, पेशेवर गड़बड़ी, आपराधिक मामले या सरकारी अधिकारियों के जन व्यवहार आदि को ध्यान में रखा जाएगा.

इस महीने की शुरुआत में बीबीसी को पता चला था कि ब्रिटेन से गूगल को जो आग्रह भेजे गए थे उनमें आधे से ज़्यादा मामलों में सज़ायाफ़्ता अपराधी शामिल थे.

इमेज कॉपीरइट AP

इनमें एक ऐसे व्यक्ति भी शामिल थे जिन्हें बच्चे के यौन शोषण की तस्वीर रखने के जुर्म में सज़ा हुई थी. उन्होंने अपनी सज़ा वाली जानकारी को हटाने का अनुरोध किया था.

गूगल के सह संस्थापक लैरी पेज ने फाइनेंशियल टाइम्स को एक साक्षात्कार में बताया कि गूगल आदेश का पालन करेगा लेकिन इससे उसके सृजनशीलता प्रभावित होगी.

उन्होंने यह भी कहा कि इस आदेश के बाद दमनकारी सरकारें खुश हो जाएंगी.

यूरोपीय संघ के नागरिकों को अपनी पुरानी जानकारी गूगल सर्च से हटवाने के लिए एक ऑनलाइन फ़ॉर्म उपलब्ध होगा जिसे भरकर गूगल से ख़ुद को भूलने के लिए कहा जा सकेगा.

जानकारी

आवेदन के तहत नागरिकों को अपने देश, सामग्री के लिंक और हटाने की वजह की जानकारी देनी होगी.

हालांकि गूगल भले ही आदेश का पालन करते हुए जानकारी के लिंक अपने सर्च इंजन से हटा ले लेकिन फिर भी असली वेबसाइट जहाँ वो जानकारी पोस्ट की गई है, वहाँ वह मौजूद रहेगी.

लैरी पेज ने कहा कि उन्हें दुख है कि यूरोप में निजता को लेकर बहस में वे अधिक हिस्सेदारी नहीं ले सके. उन्होंने कहा कि गूगल 'अधिक यूरोपीय' बनने की कोशिश करेगी.

हालांकि उन्होंने चेताते हुए कहा कि यदि इंटरनेट को अधिक विनियमित किया गया तो हम ऐसी नवीनता नहीं देख पाएंगे जैसी कि हम देख रहे हैं.

लैरी पेज ने कहा कि इस फ़ैसले से वे सरकारें भी जानकारी छिपाने के लिए प्रोत्साहित होंगी जो यूरोप की तरह प्रगतिशील नहीं हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार