अफ़गानिस्तानः हेरात में भारतीय नागरिक का अपहरण

हे्रात, अफ़गानिस्तान इमेज कॉपीरइट AFP

सोमवार को अफ़गानिस्तान के हेरात प्रांत में एक भारतीय नागरिक का अपहरण कर लिया गया है. हाल ही में हेरात में भारतीय दूतावास पर हमला हुआ था.

ईरान सीमा के समीप स्थित हेरात को अफ़गानिस्तान के सबसे सुरक्षित शहरों में से एक माना जाता है.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सैयद अकबरुद्दीन ने अपने ट्वीट संदेश में कहा है कि अफ़गानिस्तान के हेरात में एक ग़ैर सरकारी संस्था में काम करने वाले भारतीय नागरिक को अगवा कर लिया गया है. वाणिज्य दूतावास स्थानीय अधिकारियों के संपर्क में है.

चंद दिनों पहले ही भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह से तीन दिन पहले हेरात स्थित भारतीय वाणिज्य दूतावास पर हमला हुआ था.

अफ़गानिस्तान में हिंसा

भारतीय वाणिज्य दूतावास पर 23 मई को होने वाले हमले को लेकर सवाल उठे थे कि इतनी कड़ी सुरक्षा वाले इलाक़े में हमला कैसे मुमकिन हुआ?

हमले के बाद अफ़गानिस्तान के राष्ट्रपति हामिद करज़ई ने नरेंद्र मोदी को अफ़गानिस्तान में मौजूद भारतीय प्रतिष्ठानों की हरसंभव सुरक्षा का आश्वासन दिया था.

इमेज कॉपीरइट AP

इस साल अफ़गानिस्तान से विदेशी फ़ौजों के वापसी की शुरुआत को अफ़गानिस्तान में हिंसा की बढ़ोत्तरी से जोड़कर देखा जाता है.

जुलाई 2008 में काबुल में मौजूद भारतीय दूतावास के बाहर बम विस्फोट में कम से कम 41 लोगों की मौत हो गई थी और लगभग डेढ़ सौ लोग घायल हो गए थे.

उसके बाद सितंबर 2013 में तालिबान ने हेरात में अमरीकी वाणिज्य दूतावास पर ऐसा ही हमला किया था. इस हमले में चार अफ़ग़ानी नागरिक मारे गए थे पर हमलावर परिसर में घुसने में नाकाम रहे थे.

लाखों अफ़ग़ानों ने तालिबान की धमकी की परवाह किए बिना अप्रैल में हुए राष्ट्रपति चुनाव में हिस्सा लिया था.

अफ़ग़ानिस्तान में दूसरे दौर के चुनाव जून मध्य में होने हैं, जिसमें अब्दुल्लाह अब्दुल्लाह और विश्व बैंक के पूर्व अर्थशास्त्री अशरफ़ ग़नी आमने-सामने होंगे.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार