रूस में कोका कोला के बहिष्कार की अपील

कोका कोला का बहिष्कार करते रूसी युवा इमेज कॉपीरइट DNI

युवाओं का एक समूह रूसी लोगों से कोका कोला न पीने का अनुरोध कर रहा है. वे यूक्रेन संकट के बाद अमरीका द्वारा रूस पर लगाए गए प्रतिबंधों के ख़िलाफ़ प्रदर्शन कर रहे हैं.

मॉस्को के गोर्की पार्क में स्कूल ईयर की शुरुआत करते हुए फ़ूड पैट्रियॉटिज़्म समूह ने अपना विरोध प्रदर्शन किया.

इसमें शामिल होने वाले लोगों ने बैनर और टीशर्ट पर लिखे संदेशों से अपना विरोध जताया.

इन पर लिखा था, "रूस के लिए, कोला को 'न' कहो" और "हमारे बच्चों को विदेशी ज़हर से बचाओ."

क़रीब 20 लोगों के एक समूह ने कोक को मिंट के साथ मिलाया ताकि रासायनिक अभिक्रिया हो और इसकी ऊंची फुहारें छोड़ीं.

(कहानी कोका कोला की)

'मुद्रा से विरोध'

इमेज कॉपीरइट DNI

एक प्रदर्शनकारी ने डीएनआई ऑनलाइन समाचारपत्र को बताया, "आप कल्पना कर सकते हैं कि आपके बच्चों के पेट में क्या हो रहा है."

इससे पहले इस समूह ने मॉस्को में अमरीकी दूतावास के सामने इकट्ठे होकर लोगों से पेप्सी पेय और मैकडोनाल्ड्स जैसे फ़ास्ट फ़ूड का बहिष्कार करने को कहा.

फ़ूड पैट्रियॉटिज़्म ने ज़ोर देकर कहा कि रूसी सरकार से उनका कोई संबंध नहीं है. हालांकि उनका नाम देश के विवादास्पद पूर्व मुख्य चिकित्सा अधिकारी गेनैडी ओनिश्चेंको के अनुरोध से मिलता है, जो विदेशी खाद्य पदार्थों का आयात प्रतिबंधित करने की मांग करते हैं.

इस समूह की वेबसाइट पर लिखा है, "हम सभी उपभोक्ता हैं और हमारी मुद्रा रूबल से विरोधी विचारधारा वाले सामान का बहिष्कार करके अपनी राय जता सकते हैं."

आमतौर पर सोशल मीडिया पर इसे सकारात्मक प्रतिक्रिया मिली है, लेकिन कुछ यूज़र इसे धूर्ततापूर्ण मानते हैं.

डीएनआई की वेबसाइट पर एक टिप्पणी है, "मूर्खों को यह कहना अच्छा लगता है कि कोका कोला से इंजन साफ़ होता है और इससे दुर्गंध दूर होती है. हालांकि वोदका (रूसी शराब) का क्या असर हो सकता है, इस बारे में रूसी राष्ट्रीयता की भावना ख़ामोश रहती है.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार