यूक्रेन: पोरोशेंको ने ली शपथ, रखी शांति योजना

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption पोरोशेंको यूक्रेन के बड़े उद्योगपति हैं और राष्ट्रपति चुनाव में उन्होंने जीत हासिल की है.

यूक्रेन के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति पेत्रो पोरोशेंको ने शपथ लेने के बाद ही देश के पूर्वी हिस्से में चल रहे संघर्ष को रोकने के लिए एक शांति योजना सामने रखी है.

48 वर्षीय पोरोशेंको यूक्रेन के बड़े उद्योगपति हैं और इसी साल 25 मई को हुए चुनाव में उन्होंने जीत हासिल की थी.

पोरोशेंको ने देश के पूर्वी हिस्से में रहने वालों को राजनीतिक छूट की पेशकश की है और कहा है कि वो न तो युद्ध चाहते थे और न ही किसी से बदला लेना.

लेकिन उनका ये भी कहना था कि उन्होंने रूस के राष्ट्रपति को बता दिया है कि क्राइमिया, जो रूस में शामिल हो गया है, वो हमेशा “यूक्रेन का ही हिस्सा” रहेगा.

यूक्रेन में रूस के राजदूत मिख़ाइल ज़ुराबोव भी शपथ ग्रहण समारोह में मौजूद थे और उनका कहना था कि यूक्रेन को देश के पूर्वी हिस्से में सैन्य कार्रवाई को ख़त्म करना चाहिए और मानवीय सहायता की पहुंच को सुनिश्चित करना चाहिए.

रूस पर आरोप

यूक्रेन का आरोप है कि रूस दोनबास के पूर्वी इलाके में सशस्त्र विद्रोहियों का समर्थन कर रहा है. हालांकि रूस इसका खंडन करता है.

एक ओर राजधानी किएफ़ में राष्ट्रति का शपथ ग्रहण समारोह हो रहा था वहीं देश के पूर्वी इलाके में हिंसा जारी थी.

दोनेत्स्क में मौजूद बीबीसी संवाददाता स्टीव रोसेनबर्ग का कहना है कि शनिवार को विद्रोहियों के गढ़ माने जाने वाले इलाके स्लोवियांस्क में शनिवार को भी ताज़ा झड़पें हुई हैं. इसके अलावा मारियूपोल में भी गोलीबारी हुई है.

शुक्रवार को विद्रोहियों ने सीमा पर कुछ चौकियों पर नियंत्रण कर लिया.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार