तालिबान की क़ैद से छूटे अमरीकी फौजी के परिवार को धमकियां

इमेज कॉपीरइट AP

अमरीकी अधिकारी पिछले दिनों तालिबान की क़ैद से रिहा हुए अमरीकी सैनिक बो बर्गडेल के परिवार को ईमले से मिल रहीं जान से मारने धमकियों की जांच कर रहे हैं.

अमरीकी पुलिस ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स को बताया कि परिवार को चार धमकी भरे ईमेल मिले हैं.

बर्गडेल की रिहाई के बदले अमरीका ने ग्वांतानामो बे की जेल से पांच अफ़ग़ान कैदियों को रिहा किया था.

पुलिस ने बताया कि धमकी भरा पहला ईमेल बर्गडेल के पिता बॉब बर्गडेल को भेजा गया.

अब इन ईमलों की जांच एफ़बीआई कर रही है. ख़बर है कि बॉब बर्गडेल और उनकी पत्नी जानी को सुरक्षा मुहैया कराई जा रही है.

इस बीच बताया जाता है कि बर्गडेल ने कहा है कि तालिबान की क़ैद में रहने के दौरान उन्हें हफ़्तों तक एक पिंजरे में रखा गया था और वहां बिल्कुल अंधेरा था.

नायक या फिर...

हालांकि अमरीका में हुए जनमत संग्रह में लोग इस बात को लेकर बंटे हुए हैं कि बर्गडेल को एक नायक माना जाए या फिर एक ऐसा सैनिक जिसने अपनी चौकी को छोड़ कर अपने साथियों को ख़तरे में डाला.

गुरुवार को बर्गडेल के पुश्तैनी शहर में उनके स्वागत के लिए होने वाली एक पार्टी को भी रद्द कर दिया गया है.

ये अभी साफ़ नहीं है कि 2009 में बर्गडेल को किन परिस्थितियों में अगवा किया गया था.

बर्गडेल के कुछ पूर्व साथियों का कहना है कि वो पक्तिका प्रांत में अपनी चौकी को छोड़ कर चले गए जिससे वो तालिबान चरमपंथियों के हाथों में पड़ गए.

बर्गडेल की रिहाई के बदले अफगान चरमपंथियों को रिहा किए जाने के समझौते की आलोचना करने वालों का कहना है कि बर्गडेल को तलाशने के शुरुआती प्रयासों में छह अमरीकी सैनिक मारे गए थे.

हालांकि अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कैदियों की अदला-बदली के इस फैसले का बचाव किया है.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार