लापता विमान के सौवें दिन परिजनों ने अपनों को याद किया

लापता विमान यात्रियों के याद करते लोग इमेज कॉपीरइट AFP

मलेशियाई विमान एमएच370 के लापता होने के 100 दिन पूरे होने पर विमान में सवार यात्रियों के परिजन उन्हें बीजिंग में याद कर रहे हैं.

चीनी परिवारों ने कहा कि वे अपने लोगों की वापसी के लिए दुआ मांगेंगे और वे बस ये सच्चाई जानना चाहते हैं कि आख़िर विमान लापता कैसे हुआ.

अधिकारियों ने विमान की तलाश जारी रखने का वादा किया है.

एमएच-370 यात्रियों के परिजनों को मुआवज़ा मिलना शुरू

आठ मार्च को उड़ान संख्या एमएच370 कुआलालम्पुर से बीजिंग जाने के दौरान लापता हो गया था. तभी से समुद्र में खोजी अभियान चल रहा है मगर अभी तक कोई सुराग़ नहीं मिला है.

इसमें 239 लोग सवार थे. अधिकांश यात्री चीनी थे.

सहानुभूति

इमेज कॉपीरइट Reuters

खोज करने वाले मानते हैं कि विमान ऑस्ट्रेलिया के पर्थ शहर से उत्तर पश्चिम की ओर सैकड़ों मील की दूरी पर हिंद महासागर में डूब गया था.

रविवार को बीजिंग में लापता विमान के यात्रियों के संबंधी प्रार्थना करने के लिए इकट्ठा हुए थे.

इमेज कॉपीरइट Reuters

डाई सूचिन की बहन लापता विमान में सवार थीं. उन्होंने कहा कि 'वह नहीं जानतीं कि मदद के लिए कहाँ जाना है?' अब सिर्फ भगवान का सहारा है.

उन्होंने कहा, "हमने अब तक अपने परिवार के लोगों को नहीं देखा है, हमें उनके बारे में पुख्ता जानकारी नहीं है और नहीं पता कि हमें क्या करना है. इसलिए हम भगवान बुद्ध से आशीर्वाद की प्रार्थना करते हैं हमें उन पर विश्वास करना होगा."

इमेज कॉपीरइट AFP

मलेशियाई एयरलाइन के अधिकारियों ने कहा कि ये कंपनी के इतिहास के सबसे लंबे 100 दिन हैं.

कंपनी के प्रमुख अहमद जौहरी ने कहा, "हम अपने सहकर्मियों और दोस्तों की कमी महसूस करते हैं और आशा करते हैं कि एक दिन एमएच370 के साथ क्या हुआ ये जान पाएंगे."

इमेज कॉपीरइट Reuters

मलेशियाई प्रधानमंत्री नजीब रज़ाक ने लापता यात्रियों के परिवारों के साथ सहानुभूति जताई है.

उन्होंने ट्वीट किया, "एमएच 370 के लापता होने के सौवें दिन विमान में सवार यात्रियों और उनके परिजनों को याद करते हुए मलेशिया खोजी प्रयासों के प्रति प्रतिबद्ध रहेगा."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार