श्रीलंकाः बौद्ध-मुस्लिम दंगों में चार की मौत

श्रीलंका के मुस्लिम इमेज कॉपीरइट AP

श्रीलंका के दक्षिणी शहर अलुथ्गामा में दोबारा भड़के दंगों में चार लोगों की मौत के लिए कट्टरपंथी बौद्धों को ज़िम्मेदार ठहराया जा रहा है.

अलुथ्गामा शहर के समीप एक मुस्लिम स्वामित्व वाले फार्म पर हुए हमले में एक सुरक्षाकर्मी की मौत हो गई.

शहर में कर्फ़्यू जारी होने के बावजूद मुस्लिमों की कई दुकानों और घरों पर हमले किए गए.

रविवार को कट्टरपंथी बौद्ध संगठन बोडू बाला सेना (बीबीएस) की मुस्लिम विरोध रैली के बाद तीन मुस्लिमों की मौत हो गई.

बौद्ध बहुल श्रीलंका की 10 फ़ीसदी आबादी मुस्लिमों की है.

'तनाव में बढ़ोत्तरी'

ख़बरों के मुताबिक़ अल्थुगामा के समीप फार्म पर मरने वाला सुरक्षाकर्मी अल्पसंख्यक तमिल समुदाय से था.

दक्षिण के दो अन्य शहरों में मुस्लिम कारोबारियों पर हमले की ख़बरें मिली हैं.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption श्रीलंका में मुस्लिमों के घरों में आगजनी की घटना हुई.

अधिकारियों का कहना है कि रविवार से जारी हिंसा में अबतक 80 से ज़्यादा लोग घायल हुए हैं.

संवाददाताओं का कहना है कि दोनों पक्षों के बीच हाल में तनाव में बढ़ा है, मुस्लिम सरकार के उनको बौद्धों की तरफ़ से होने वाले हमलों से सुरक्षा देने की माँग कर रहे हैं, वहीं वहीं दूसरी ओर बौद्धों का आरोप है कि अल्पसंख्यकों का सरकार पर ज़रूरत से ज़्यादा प्रभाव है.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption ताज़ा हमले के कारण मुस्लिम परिवार सुरक्षित जगहों की ओर जाते हुए.

कोलंबों में मौजूद बीबीसी संवाददाता चार्ल्स हैविलैंड के अनुसार श्रीलंका में पिछले दो सालों में बौद्धों की तरफ़ से मुस्लिम विरोध प्रदर्शन हुए हैं, जिनका नेतृत्व आमतौर पर बौद्ध भिक्षुओं ने किया.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार