इराक़: सबसे बड़ी तेल रिफ़ायनरी पर हमला

इमेज कॉपीरइट Reuters

इराक़ की सबसे बड़ी तेल रिफ़ायनरी पर इस्लामी चरमपंथियों ने दो तरफ़ से मोर्टार और मशीनगन से हमला कर दिया है.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक़ बग़दाद के उत्तर में 210 किलोमीटर की दूरी पर बैजी में एक स्पेयर पार्ट्स के गोदाम से धुआँ उठ रहा है.

बग़दाद की ओर बढ़ रहे चरमपंथियों पर सेना ने ताज़ा हमला किया है. पश्चिमी शहर रमादी में भी लड़ाई शुरू होने की ख़बरें हैं.

इराक़ की राजधानी बग़दाद के निवासी सुन्नी चरमपंथियों के बग़दाद के नज़दीक पहुंचने के मद्देनज़र खाने-पीने की चीज़ें इकट्ठा करने में जुटे हैं.

इस्लामिक स्टेट ऑफ़ इराक़ एंड अल शाम या आईएसआईएस और सुरक्षा बलों के बीच बग़दाद से महज 60 किलोमीटर की दूरी पर बाकूबा शहर के आस-पास लड़ाई चल रही है.

संवाददाताओं का कहना है कि देश के उत्तर और पश्चिम की ओर से विद्रोहियों के राजधानी के नज़दीक पहुंचने के कारण स्थित तनावपूर्ण है.

विद्रोहियों का बग़दाद से महज़ 60 किलोमीटर दूर कब्ज़ा

इमेज कॉपीरइट AFP

पिछले हफ़्ते इराक़ के महत्वपूर्ण शहरों में क़ब्ज़ा कर चुके विद्रोहियों और इराक़ी सेना के बीच भीषण लड़ाई चल रही है.

आईएसआईएस एक सुन्नी चरमपंथी संगठन है.

इमेज कॉपीरइट AP

विद्रोहियों ने सुदूर दक्षिण में राजधानी बग़दाद और इराक़ के शिया मुसलमान इलाकों में घुसने की धमकी दी है.

असुरक्षा की मानसिकता

इमेज कॉपीरइट Getty

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने बुधवार को अपने वरिष्ठ सुरक्षा सलाहकारों से इराक़ के संकट पर चर्चा की और चेतावनी दी कि आईएसआईएस "हमारे देश के लिए वास्तविक ख़तरा" है.

इमेज कॉपीरइट AFP

इराक़ी प्रधानमंत्री नूरी अल मलिकी ने वरिष्ठ अधिकारियों को सुन्नी चरमपंथियों को रोक पाने में विफल होने की वजह से निकाल दिया है.

मंगलवार को उन्होंने कड़े शब्दों में सऊदी अरब को इसके लिए ज़िम्मेदार ठहराया, जो व्यापक रूप से आईएसआईएस का समर्थन करता है.

इमेज कॉपीरइट AP

राजधानी के शिया बहुल इलाकों में हर दिन होने वाले बम विस्फोटों की वजह से बग़दाद के निवासियों में असुरक्षा की मानसिकता घर कर गई है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार