सुन्नी विद्रोहियों के ख़िलाफ़ क्षेत्रीय एकजुटता की ज़रूरत: केरी

जॉन केरी इमेज कॉपीरइट AFP GETTY

अमरीकी विदेश मंत्री जॉन केरी ने कहा है कि सुन्नी चरमपंथियों को इस्लामिक स्टेट इन इराक ऐंड अल-शाम (आईएसआईएस) समूह से बाहर निकालने के लिए क्षेत्रीय एकजुटता की ज़रूरत है.

बीबीसी को दिए साक्षात्कार में जॉन केरी ने कहा, ''यह बर्दाश्त से बाहर है कि एक चरमपंथी संगठन किसी इलाक़े पर क़ब्ज़ा कर ले और सरकार की वैधानिकता को चुनौती दे. इस क्षेत्र के हर देश को विद्रोहियों से लोहा लेना होगा.''

केरी ने कहा कि इराक़ संकट का कोई सैन्य समाधान नहीं है. उन्होंने इराक़ में एक नई सरकार की ज़रूरत पर बल दिया जो उन इलाक़ों में लोगों को सशक्त बना सके जिन्हें आईएसआईएस ने अपने नियंत्रण में कर लिया है.

आईएसआईएस समूह ने इराक़ के उत्तरी और पश्चिमी इलाक़े में एक बड़े हिस्से पर क़ब्ज़ा कर रखा है.

केरी ने इराक़ के उत्तरी शहर इर्बिल में कुर्द नेताओं से भी बातचीत की है.

सैन्य कार्रवाई के बारे में पूछे जाने पर केरी ने कहा कि कुर्द नेता ऐसी कोई कार्रवाई नहीं करने पर सहमत हैं.

उन्होंने कहा, ''सैन्य कार्रवाई की तो जा सकती है लेकिन इसके राजनीतिक समाधान की ज़रूरत है. सिर्फ़ हमले करने से बात नहीं बनेगी. इसके लिए बाक़ायदा एक पूरी रणनीति की ज़रूरत है.''

इमेज कॉपीरइट Reuters

वहीं विद्रोहियों का आगे बढ़ना जारी है और वह एक प्रमुख तेल रिफ़ाइनरी पर क़ब्ज़े के लिए लड़ रहे हैं.

इस बीच इराक़ में संयुक्त राष्ट्र के एक मानवाधिकार दल ने ख़बर दी है कि देश में जून से अभी तक कम से कम 1,075 लोग मारे जा चुके हैं जिनमें अधिकतर आम नागरिक हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार