पाकिस्तानः 'ऑनर किलिंग' मामले में पांच दोषी

  • 5 जुलाई 2014
पाकिस्तान, फरजाना परवीन, ऑनर कीलिंग इमेज कॉपीरइट AFP

पाकिस्तान की एक अदालत ने एक युवती की पीट पीट कर हत्या करने के मामले में युवती के पिता और दो भाइयों सहित पांच लोगों को दोषी ठहराया है.

युवती के परिवार वाले अपनी पसंद के लड़के से शादी करने के उसके फैसले से नाराज थे.

तीन माह की गर्भवती फ़रजाना परवीन को ईंटों और लाठियों से पीट पीट कर मार डाला गया था.

प्रत्यक्षदर्शियों से कहा गया है कि वे सोमवार को लाहौर कोर्ट में बयान दर्ज कराएं.

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर निंदा

सरेआम हुई नृशंस हत्या के इस मामले ने पाकिस्तान में खासा आक्रोश पैदा किया है.

हत्या का ये मामला तब और विवादास्पद बन गया जब फ़रजाना के पति ने ये आरोप लगाया कि पुलिस पूरी घटना के दौरान कथित तौर पर तमाशबीन बनी रही.

इमेज कॉपीरइट Reuters

मामले की तहकीकात करने वाले मियां ज़ुल्फ़िकार ने समाचार एजेंसी एएफपी को बताया, "आज अदालत ने पीड़िता के पिता, दो भाइयों, चचेरे भाई और पूर्व मंगेतर को दोषी ठहराया है."

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान के लिए आलोचना का विषय बन चुके इस मामले पर प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने "शीघ्र कार्रवाई" की मांग की है.

अमरीका ने मई में हुई हत्या की इस घटना को घृणित बताया है जबकि संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार प्रमुख नवी पिल्लई ने इसे बेहद "शर्मनाक घटना" बताया है.

रुढ़िवादी समाज

इमेज कॉपीरइट Getty

पाकिस्तान में आमतौर पर परिवार की मर्ज़ी से शादी करने का रिवाज़ है. यहां के कुछ रुढ़िवादी समुदायों में अपनी इच्छा से शादी करने पर सख़्त पाबंदी है.

परवीन के परिजन तब बेहद नाराज हुए जब उन्होंने उनके पसंद किए हुए लड़के की जगह मोहम्मद इक़बाल से शादी करने का फैसला किया.

इसके बाद परवीन के रिश्तेदारों ने हाईकोर्ट में इक़बाल के ख़िलाफ़ अपहरण का मुक़दमा कर दिया था.

इमेज कॉपीरइट AP

इसी मामले में परवीन और इक़बाल लाहौर हाईकोर्ट आए हुए थे. परवीन ने पहले ही पुलिस के सामने स्वीकार कर लिया था कि उन्होंने अपनी मर्जी से शादी की थी.

इक़बाल ने बीबीसी को बताया कि जब वे 27 मई को फ़रजाना के साथ अदालत पहुँचे तो उसके रिश्तेदार वहां इंतज़ार कर रहे थे. उन्होंने फ़रजाना को अपने साथ ले जाने की कोशिश की.

फ़रज़ाना ने जब ख़ुद को छुड़ाने की कोशिश की तो वे उसे फ़र्श पर घसीटने लगे और फिर सिर पर ईंटें मारीं जिससे उसकी मौत हो गई.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार