फ़लस्तीनी युवक को 'ज़िंदा जलाया गया था'

ख़देर इमेज कॉपीरइट BBC World Service

फ़लस्तीनी अटॉर्नी जनरल मोहम्मद अल आवी के अनुसार पूर्वी येरुशलम में मारे गए फ़लस्तीनी युवक अबू ख़देर को ज़िंदा जलाया गया था.

ख़देर की पहली पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में मोहम्मद अल आवी के हवाले से कहा गया है, "मौत आग के कारण झुलसने से हुई है."

उधर, इसराइली अधिकारी कहते हैं कि 16 वर्षीय अबू ख़देर की मौत के हालात अभी स्पष्ट नहीं हैं.

तीन इसराइली युवाओं की अपहरण के बाद हत्या के बाद अबू ख़देर का अपहरण और हत्या हुई.

इसराइली डॉक्टरों ने फ़लस्तीनी फॉरेंसिंक इंस्टीट्यूट के निदेशक साबिर अल अलौल की मौजूदगी में ख़देर का पोस्टमॉर्टम किया था.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption 12 जून को लापता हुए तीन इसराइली युवकों के शव कई दिनों बाद एक गड्ढे से मिले थे.

अल अलौल के हवाले से फ़लस्तीनी समाचार एजेंसी ने कहा कि ख़देर की सांस की नली में राख थी, जो बताती है कि वह ज़िंदा होने के दौरान वहां पहुंची.

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट को अधिकारिक रूप से जारी नहीं किया गया है.

ख़देर के सिर में चोट के निशान थे और उनका बदन 90 फ़ीसदी तक जल गया था.

इमेज कॉपीरइट Reuters

ख़देर के अंतिम संस्कार के दौरान फ़लस्तीनी युवाओं और इसराइली सुरक्षाबलों के बीच झड़पें हुई हैं.

पश्चिमी तट पर शुरू हुईं झड़पें उत्तरी इसराइल के अरब क़स्बों तक पहुंच गई हैं.

पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस छोड़ी है और 20 से ज़्यादा प्रदर्शनकारियों को गिरफ़्तार किया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार