ग़ज़ा में 'ज़मीनी हमले को तैयार इसराइल'

इसराइल फ़लस्तीन इमेज कॉपीरइट AFP

इसराइल का कहना है कि वह ग़ज़ा पट्टी में चरमपंथियों के ख़िलाफ़ 'हर तरह के विकल्प आजमाने को तैयार' है, जिसमें संभावित ज़मीनी हमला भी शामिल है.

इस बीच दोनों ओर से हवाई हमले और रॉकेट हमले जारी हैं. इसराइल के अनुसार मंगलवार को उसने '40 आतंकी ठिकानों' पर हमले किए. फ़लस्तीनी अधिकारियों का कहना है कि इसराइली हमलों में 11 लोग मारे गए हैं.

उधर ग़ज़ा में चरमपंथियों ने इसराइल पर करीब 100 रॉकेट दागे हैं.

फ़लस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास ने मांग की है कि इसराइल यह सैन्य अभियान ख़त्म करे.

फ़लस्तीन की आधिकारिक न्यूज़ एजेंसी वाफ़ा में छपे एक बयान में अब्बास ने कहा, "इसराइल को तुरंत ग़ज़ा पर हमले और अपना विस्तार रोकना चाहिए."

ज़रूरी क़दम

इसराइल का कहना है कि जब तक रॉकेट हमले नहीं रुक जाते, तब तक वह हमलावरों को खदेड़ना जारी रखेगा. उसने ज़मीनी सैन्य अभियान की संभावना से इनकार नहीं किया.

इसराइली सेना के प्रवक्ता लेफ़्टिनेंट कर्नल पीटर लर्नर ने बीबीसी से कहा, "हमें उस विकल्प के लिए भी तैयार रहना होगा. हमें उस विस्तार के लिए भी तैयार रहना होगा और वास्तव में हम (तैयार) हैं."

इमेज कॉपीरइट AP

कर्नल लर्नर के मुताबिक़, "हमने आरक्षित टुकड़ी में से कुछ को बुलाया है और उस विकल्प की तैयारी के तहत हम ग़ज़ा पट्टी के चारों ओर ज़रूरी क़दम उठा रहे हैं."

बीबीसी संवाददाता हमादा अबुक़मर के अनुसार फ़लस्तीनी स्वास्थ्य सेवा के कर्मचारियों का कहना है कि ग़ज़ा शहर में एक कार पर हुए हवाई हमले में कम से कम तीन लोग मारे गए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार