सलाद बनाने को 23 लाख रुपए का चंदा

आलू सलाद किकस्टार्टर इमेज कॉपीरइट Kickstarter

एक भूखे व्यक्ति का अभियान इंटरनेट पर सनक के समान बन गया है.

अमरीका के ओहाइयो निवासी जैक ब्राउन के पास आलू सलाद बनाने के लिए पैसे नहीं थे. इसके लिए उन्होंने एक 'किकस्टार्टर फंड' पेज बना दिया.

ये ध्यान रखें वो न तो आलू के सलाद की कंपनी शुरू करने जा रहे थे और न ही इसके बारे में कोई ज्ञानवर्धक डॉक्यूमेंट्री बनाने जा रहे थे.

उनके पास सिर्फ़ आलू के सलाद के लिए ज़रूरी सामान ख़रीदने के पैसे नहीं थे. वो सिर्फ़ दस डॉलर इकट्ठा करना चाहते थे.

ब्राउन ने कहा था कि आलू सलाद बनाते वक़्त वे सभी दानदाताओं का नाम ज़ोर से लेंगे.

उनके इस बेहद विनम्र लेकिन मज़ाकिया अनुरोध को ज़बरदस्त समर्थन मिला. पाँच दिन के भीतर ही उनके पास चालीस हज़ार डॉलर (लगभग 23 लाख रुपए) से ज़्यादा इकट्टा हो गए.

प्रति दान की राशि चार डॉलर से कम

उन्हें क़रीब चार हज़ार लोगों ने दान दिया है. अधिकतर ने चार डॉलर से कम दिए हैं.

ब्राउन के इस अभियान से कई लोग अपना अभियान शुरू करने को प्रेरित हो गए हैं.

ब्राउन की आलू सलाद का उदाहरण देते हुए एक व्यक्ति ने गो फंड मी वेबसाइट पर पोस्ट किया, "इंटरनेट पर जब किसी को आलू के सलाद के लिए हज़ारों डॉलर मिल सकते हैं, क्या मैं विशेष क्लासरूम के तकनीकी कार्यक्रम के लिए 1500 डॉलर इकट्ठा नहीं कर सकता हूँ."

तब तक ब्राउन के फंड में 22,000 डॉलर ही जमा हुए थे.

हालांकि इंटरनेट पर सभी ब्राउन के विचार से प्रभावित नहीं है. एक व्यक्ति ने पोस्ट किया, "यदि आप किसी आलू सलाद बनाने वाले को पैसा दे सकते हैं बजाए कैंसर रिसर्च जैसे किसी अच्छे काम के, आपको आग में जलकर मर जाना चाहिए."

लेखक एड यंग ने ट्वीट किया, "जिन लोगों ने आलू सलाद के लिए चंदा दिया उन्हें लाइन में खड़ा करके थप्पड़ मारने के लिए किकस्टार्टर."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार