'योनि' का चित्र बनाने पर गिरफ़्तारी

इमेज कॉपीरइट AFP

जापान की एक महिला कलाकार को अश्लीलता फैलाने के आरोप में गिरफ़्तार किए जाने के बाद वहां एक नई बहस शुरू हो गई है.

टोक्यो की 42 साल की मेगुमी इगाराशी को शनिवार को उस समय गिरफ़्तार कर लिया गया जब वे अपनी योनि से संबंधित तस्वीरें और डाटा उन लोगों को भेज रही थीं जो उसका इस्तेमाल उनकी योनि के चित्रों का 3डी मॉडल बनाने के लिए करते.

इस काम के लिए ये लोग इगाराशी को पैसा दे रहे हैं. ये लोग इन चित्रों से 3डी प्रिंटर के जरिए योनि के आकार की कश्ती का चित्र बनाने की योजना पर काम कर रहे हैं.

इगाराशी की गिरफ़्तारी की ख़बर जापान की राष्ट्रीय मीडिया की सुर्खियों में है और देश भर में अश्लीलता संबंधी कानून पर नए सिरे से बहस शुरू हो गई है.

पुलिस के प्रवक्ता ने समाचार एजेंसी एएफ़पी को बताया कि वे ऐसी सामग्री बांट रही थी जिसका इस्तेमाल "अश्लील आकार बनाने" में हो सकता था.

जापानी समाज में वर्जित

इमेज कॉपीरइट Getty

जापान के असाही न्यूज़ पेपर के मुताबिक इगाराशी ने पुलिस के आरोपों से इनकार किया है. अख़बार के मुताबिक इगाराशी ने कहा, "मैं पुलिस के फ़ैसले से सहमत नहीं हूं. मेरे लिए मेरी योनि मेरे हाथ-पैर की तरह है. इसमें कुछ भी अश्लील नहीं है."

दूसरी ओर इगाराशी की वेबसाइट के मुताबिक वो अपने यौन अंगों के आधार पर कलाकृतियां बनाती रही हैं. उन्होंने अपनी वेबसाइट पर कहा, "जापानी समाज में योनि को लेकर एक तरह की वर्जना है. इसे अश्लील समझा जाता है, जबकि लिंग को पॉप कल्चर का हिस्सा माना जाता है."

जापान के अश्लीलता संबंधी कानून के तहत यौन अंगों के चित्रण पर पाबंदी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार