इसराइल को ओबामा का समर्थन भी, चेतावनी भी

इमेज कॉपीरइट Reuters

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने इसराइल के आत्मरक्षा के अधिकार का समर्थन किया है, लेकिन ग़ज़ा पट्टी में ज़्यादा दख़ल देने के प्रति सावधान भी किया है.

ओबामा ने इसराइली प्रधानमंत्री बेन्यामिन नेतान्याहू से बातचीत करते हुए फ़लस्तीन के हमास के ख़िलाफ़ लड़ाई में समर्थन जारी रखने का भरोसा दिया है.

इस बातचीत में ओबामा नेफ़लस्तीन में मारेजा रहे आम लोगों के प्रति भी संवेदना व्यक्त की है. इसराइल-हमास संघर्ष में अब तक 300 से ज़्यादा फ़लस्तीनियों की मौत हो चुकी है.

शनिवार की सुबह दो घटनाओं में 15 फ़लस्तीनियों की मौत हुई है.

बान की मून

इसराइल और हमास के बीच शांति स्थापित करने के उद्देश्य से संयुक्त राष्ट्र की महासचिव बान की मून भी शनिवार को इलाके में पहुंच रहे हैं.

संयुक्त राष्ट्र के राजनीतिक मामलों के मुखिया जेफ़्री फेल्टमैन ने कहा कि मून की यात्रा का उद्देश्य इलाक़े में शांति स्थापित करना है.

इमेज कॉपीरइट AP

नेतन्याहू ने ग़ज़ा में आक्रामक दखल देने की चेतावनी दी है जबकि हमास ने कहा है कि इस दखल के लिए इसराइल को भारी कीमत चुकानी होगी.

इसराइल ग़ज़ा पर दस दिनों से सैन्य अभियान जारी रखे हुए है, दूसरी ओर हमास भी इसराइल पर रॉकेट से हमले कर रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार