मिस्र: सुरक्षा नाके पर 20 सैनिक मारे गए

  • 20 जुलाई 2014
मिस्र का सैनिक इमेज कॉपीरइट AP
Image caption मोहम्मद मोर्सी को राष्ट्रपति पद से हटाए जाने के बाद चरमपंथियों के हमलों में तेज़ी आई है

मिस्र में सुरक्षा अधिकारियों का कहना है कि पश्चिमी मिस्र के एक सुरक्षा नाके पर हमले में कम से कम 20 सैनिक मारे गए हैं.

हमला राजधानी क़ाहिरा से 630 किलोमीटर दूर रेगिस्तान में एक सुरक्षा नाके पर हुआ.

हमलावरों ने ग्रेनेड लॉन्चर और भारी मशीनगनों से सैनिकों को निशाना बनाया.

हालाँकि हमलावरों की पहचान अभी तक स्पष्ट नहीं हो सकी है.

लगभग एक साल पहले मोहम्मद मोर्सी को राष्ट्रपति पद से हटाए जाने के बाद से चरमपंथियों ने सुरक्षाबलों के ख़िलाफ़ अपना अभियान तेज़ किया है.

सुरक्षा अधिकारियों के अनुसार हमला वादी-अल-जादिद प्रांत में फ़ाराफ़्रा-क़ाहिरा राजमार्ग पर हुआ.

मिस्र की सरकारी समाचार एजेंसी मेना के अनुसार सुरक्षाबलों की जवाबी कार्रवाई में तीन बंदूक़धारी भी मारे गए हैं.

सरकार ने तीन दिन के राष्ट्रीय शोक की घोषणा करते हुए कहा है, "मिस्र के हर हिस्से से आतंकवाद को ख़त्म किया जाएगा."

अहम जीत

जिस जगह हमला हुआ वह सूडान और लीबिया की सीमा से लगता है. कुछ रिपोर्टों के मुताबिक़ हमलावर लीबिया से हथियारों की तस्करी मिस्र में कर रहे थे.

क़ाहिरा में बीबीसी संवाददाता सुज़ैन कियानपोर का कहना है कि सुरक्षाबल इस्लामिक चरमपंथियों को अलग-थलग करने के लिए जूझ रहे हैं.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप हमसे फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार