ग़ज़ा: 13 दिनों में सबसे बड़ा हमला

  • 20 जुलाई 2014
ग़ज़ा इमेज कॉपीरइट AP

इसराइल का कहना है कि उसने फ़लस्तीन के चरमपंथी संगठन हमास के ख़िलाफ़ अपनी ज़मीनी कार्रवाई और तेज़ की है.

ऐसी ख़बरें आ रही हैं कि ग़ज़ा में 13 दिन पहले इसराइल द्वारा शुरू की गई कार्रवाई से लेकर यह अब तक की सबसे बड़े पैमाने की बमबारी है.

इसराइल की सेना ने एक बयान में कहा है कि ग़ज़ा में चरमपंथी ताक़तों के ख़िलाफ़ लड़ने के लिए सेना में अतिरिक्त बल शामिल किए गए हैं.

रविवार को हुए ताज़ा हवाई हमले में चार फ़लस्तीनियों की मौत हो गई जिसमें दो बच्चे और हमास के वरिष्ठ अधिकारी का एक बेटा भी है.

सप्ताहांत में भी मरने वालों की संख्या में इज़ाफ़ा होता रहा और संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक़ 350 से ज़्यादा फ़लस्तीनी मारे जा चुके हैं जिनमें से अधिकतर आम नागरिक हैं.

इसराइल के प्रधानमंत्री बिन्यामिन नेतन्याहू ने आठ जुलाई को जब से सैन्य अभियान शुरू किया है तब से पांच इसराइली सैनिक और दो इसराइली नागरिक मारे गए हैं.

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बान की मून रविवार को क़तर की राजधानी दोहा पहुंच रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

वह फ़लस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास से भी मुलाक़ात करेंगे.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप हमसे फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी जुड़ सकते हैं.)

संबंधित समाचार