विमान हादसा: 'जो ज़रूरी लगे, वह करेगा रूस'

व्लादिमिर पुतिन इमेज कॉपीरइट AP

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा है कि पूर्वी यूक्रेन में संघर्ष को समाप्त करने के लिए जो भी ज़रूरी होगा वह किया जाएगा ताकि जांचकर्ता मलेशियाई विमान के दुर्घटनास्थल तक पहुंच सकें.

सोमवार को जारी वीडियो बयान में इसमें पुतिन ने कहा, "यह बात यकीन के साथ कही जा सकती है कि यूक्रेन के पूर्व में जारी संघर्ष अगर 28 तारीख़ तक रुक गया होता तो यह हादसा नहीं होता."

उन्होंने इस हादसे को लेकर राजनीति न करने की अपील भी की.

पुतिन ने कहा कि यूक्रेन और मलेशिया के कुछ विशेषज्ञ दुर्घटनास्थल पर पहुंच चुके हैं लेकिन यह पर्याप्त नहीं है.

उन्होंने कहा, "ज़रूरी यह है कि अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन (आईसीएओ) और अंतरराष्ट्रीय आयोग के संरक्षण में एक वृहद विशेषज्ञ दल वहां काम करे."

"यूक्रेन में जारी संघर्ष को सैन्य चरण से वार्ता की स्थिति तक लाने में रूस अपनी तरफ़ से पूरी कोशिश करेगा."

जांच पूरी

इमेज कॉपीरइट AP

इससे पहले नीदरलैंड्स से पहुंचे तीन फ़ॉरेंसिक विशेषज्ञों ने मलेशियाई विमान हादसे में मारे गए यात्रियों के शवों की जांच पूरी कर ली है.

ये शव उत्तरी यूक्रेन में एक ट्रेन में संभाल कर रखे गए हैं.

विशेषज्ञों ने बताया कि जल्द ही इन शवों की शिनाख़्त की प्रक्रिया भी शुरू कर दी जाएगी.

इस बीच यूक्रेन के डोनेट्स्क शहर में विद्रोहियों द्वारा भारी गोलीबारी जारी है.

शहर की एक बहुमंज़िला इमारत में आग लग गई और कई लोग शहर छोड़कर जा रहे हैं.

रूस पर सवाल

इमेज कॉपीरइट AP

दूसरी ओर अमरीका और दूसरे कई देशों का का कहना है कि इस विमान हादसे में रूस की भी भूमिका के कई सबूत मिले हैं.

17 जुलाई को हुए इस हादसे में एमएच-17 नाम की इस फ़्लाइट में सवार सभी 298 यात्री मारे गए थे. कथित तौर पर इस फ़्लाइट को एक मिसाइल से निशाना बनाया गया था.

रूस पर आरोप है कि उसने विद्रोहियों को एंटी एयरक्राफ़्ट सिस्टम की आपूर्ति की जिसका इस्तेमाल इस हमले में किया गया. हालांकि रूस ने आरोपों का खंडन किया है.

नीदरलैंड्स का कड़ा रुख

इमेज कॉपीरइट Getty Images

नीदरलैंड्स के प्रधानमंत्री मार्क रूट ने कहा कि जांच प्रक्रिया में किसी भी तरह की अड़चन पहुंचाई जाती है तो उनके सामने सभी आर्थिक और राजनीतिक विकल्प खुले हैं.

उन्होंने संसद में कहा, "हमें अपने नागरिक वापस चाहिए.''

इस हादसे में नीदरलैंड्स के 193 नागरिक मारे गए हैं.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार