सड़क पर आया अमेठी राजपरिवार का झगड़ा

संजय सिंह इमेज कॉपीरइट Atul Chandra for BBC
Image caption संजय सिंह राज्यसभा सांसद हैं

अमेठी के शाही परिवार में संपत्ति को लेकर झगड़ा अब सार्वजनिक हो गया है.

विवाद कांग्रेस के राज्य सभा सांसद और अमेठी राजपरिवार के वारिस संजय सिंह और उनकी पहली पत्नी गरिमा से उनके पुत्र और दो बेटियों के बीच अमेठी स्थित महल में हिस्सेदारी को लेकर है.

संजय सिंह की बेटी महिमा ने उन पर और उनकी वर्तमान पत्नी अमिता पर मार-पीट और ज़बरदस्ती घर से निकालने का आरोप लगाया है.

संजय सिंह ने पूरे विवाद को दुर्भाग्यपूर्ण बताया और कहा कि इस बारे में वे फिर बात करेंगे.

महिमा का आरोप है कि उनके भाई अनंत विक्रम और भाभी महल के एक हिस्से में रह रहे थे और यह बात अमिता को बिलकुल नहीं सुहाती थी.

महिमा ने बताया, "12 जुलाई को जब अनंत विक्रम को अपनी पत्नी और बच्चों के साथ किसी कारण ससुराल जाना पड़ा तो अमिता ने अपने गुंडों की मदद से अनंत विक्रम के हिस्से में लगे ताले को तुड़वा कर उनका सामान बाहर फिकवा दिया."

इनकार

महिमा ने जिला प्रशासन पर भी अपने पिता के प्रति पक्षपात करने का आरोप लगाया है.

उन्होंने कहा, "हम इस घर में अब कैद हैं. बाहर अमिता के गुंडे और पीएसी तैनात है जिसके कारण हम बाहर जाकर किसी की मदद भी नहीं ले सकते. ज़िलाधिकारी ने कहा है कि उनको मुख्यमंत्री के ऑफिस से आदेश मिला है कि हम लोगों को घर से बेदखल कर दें."

किन्तु जिलाधिकारी ने इस बात से इंकार किया कि उन्हें किसी प्रकार का कोई आदेश मिला है. उन्होंने कहा, "ऐसा कुछ नहीं है. हमें महल खाली नहीं करवाना है केवल शांति व्यवस्था बनाए रखनी है."

अनंत विक्रम का कहना है कि दादा की जायदाद में एक पोते का भी हिस्सा होता है इसलिए वे कोई ग़ैरकानूनी काम नहीं कर रहे हैं.

गरिमा और उनके बच्चे पहली बार खुल कर संजय और अमिता के खिलाफ आवाज़ उठा रहे हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार