ओबामा पर मुक़दमा चलाने को मंज़ूरी

बराक ओबामा इमेज कॉपीरइट AP

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा पर अपनी संवैधानिक शक्तियों के कथित उल्लंघन के लिए मुक़दमा चलाने के एक प्रस्ताव को अमरीकी संसद के निचले सदन 'हाउस ऑफ रिप्रेज़ेंटेटिव' ने मंज़ूरी दे दी है.

यह प्रस्ताव सदन में 201 के मुक़ाबले 225 मतों से पारित हुआ. राष्ट्रपति ओबामा के ख़िलाफ़ मुक़दमा करने के लिए वक़ील अब क़ानूनी काग़ज़ात तैयार करेंगे.

इस प्रस्ताव का समर्थन करने वालों का दावा है कि राष्ट्रपति ओबामा ने स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार संबंधी अपने क़ानून में बीमा की आख़िरी तारीख़ बढ़ाकर संवैधानिक शक्तियों का उल्लंघन किया.

'राजनीतिक तमाशा'

राष्ट्रपति ओबामा ने इसे समय की बर्बादी बताकर ख़ारिज़ कर दिया है.

उनका कहना है, ''हर कोई इसे राजनीतिक तमाशे की तरह देखता है.''

इमेज कॉपीरइट AP

लेकिन रिपब्लिकन सांसदों का कहना है कि राष्ट्रपति ओबामा ने कई विशेष आदेश जारी करके कांग्रेस को दरकिनार किया और एक नहीं कई बार अपनी संवैधानिक शक्तियों का अतिक्रमण किया.

सेंटा बार्बरा यूनिवर्सिटी, कैलिफोर्निया में अमरीकन प्रेसीडेंसी प्रोजेक्ट के एक अध्ययन में कहा गया है कि राष्ट्रपति ओबामा ने अपने छह साल के कार्यकाल में 183 विशेष आदेश जारी किए हैं.

उनके पूर्ववर्ती राष्ट्रपति जॉर्ज डब्लू बुश ने आठ वर्ष के दौरान इस तरह के 291 जबकि रोनॉल्ड रीगन ने 381 आदेश जारी किए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार