घरों को वापस लौट रहे हैं फलस्तीनी

ग़ज़ा के राफ़ा इलाके में संघर्ष विराम के बाद घर वापस लौटी एक महिला, 5 अगस्त इमेज कॉपीरइट AP

अमरीका के विदेश मंत्री जॉन केरी ने बीबीसी से बातचीत में इसराइल और फ़लस्तीन से आग्रह किया है कि वो गज़ा में जारी 72 घंटों के संघर्षविराम का फ़ायदा उठाएं और किसी स्थायी समझौते की ओर कदम बढ़ाएं.

जॉन केरी ने कहा कि गज़ा में स्थिति को देखते हुए 'दो देशों' के हल के बारे में बातचीत की जा सकती है. आठ जुलाई से शुरू हुए इस जंग में अभी तक 1900 से ज़्यादा लोग मारे जा चुके हैं.

उधर इसराइल और फलस्तीनी चरमपंथी गुटों के बीच 72 घंटे के संघर्ष विराम के पहले दिन ग़ज़ा में हज़ारों फलस्तीनी संयुक्त राष्ट्र के शिविरों से वापस अपने घरों को लौट रहे हैं.

इसराइली सेना का कहना है कि सारे सुरक्षाबल हटा लिए गए हैं और ग़ज़ा में सुरंगें तबाह करने का उसका मुख्य मक़सद पूरा हो गया है.

लेकिन हमास ने इसराइली सैन्य कार्रवाई को सौ फ़ीसदी नाकाम बताया है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption ग़ज़ा से लौटने पर जश्न मनाते इसराइली सैनिक

संघर्ष विराम की मध्यस्थता करने वाला मिस्र दोनों पक्षों के बीच बातचीत आयोजित करवाना चाहता है जिससे हिंसा स्थायी तौर पर ख़त्म हो जाए.

मंगलवार को स्थानीय समयानुसार सुबह आठ बजे संघर्ष विराम शुरु होने तक इसराइल और फलस्तीनियों के हमले जारी रहे.

अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने संघर्ष विराम का स्वागत किया है.

इमेज कॉपीरइट AP
Image caption संघर्ष विराम के बाद वापस लौटे कई फलस्तीनियों को क्षतिग्रस्त या तबाह घर मिले.

ग़ज़ा शहर में मौजूद बीबीसी संवाददाता मार्टिन पेशंस का कहना है कि वहां अब शांति है, लोग अपने घरों को लौट रहे हैं और चार हफ़्ते में हुई तबाही का जायज़ा ले रहे हैं.

उत्तरी शहर बेत लाहिया के निवासी ज़ुहैर हजालिया ने रॉयटर्स को बताया कि उनका घर तबाह हो गया है. उन्होंने कहा, "यहां सब तबाह हो गया है. मैंने कभी नहीं सोचा था कि वापस लौटने पर मुझे भूकंप क्षेत्र मिलेगा."

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption ग़ज़ा में 72 घंटे के संघर्ष विराम के पहले दिन मछुआरे भी समुद्र को लौटे.

वहीं सीमा के उस पार इसराइल के कफ़ार अज़ा किबुट्ज़ में 50 साल से रह रहीं इसरायला योएद का कहना है कि उन्हें हमास पर यक़ीन नहीं है लेकिन उन्हें विश्वास था कि संघर्ष विराम जारी रहेगा.

योएद ने एएफ़पी को बताया, "मैं मानती हूं कि हम बातचीत से हालात बेहतर बना सकते हैं. मैं यहां से नहीं जाऊंगी, मैं डरती नहीं हूं."

इमेज कॉपीरइट EPA
Image caption गज़ा में लड़ाई में मारे गए एक इसराइली सैनिक की कब्र पर एक बच्चा.

एक महीने से चल रहे संघर्ष में अब तक 1800 से ज़्यादा फ़लस्तीनी और 67 इसराइली सैनिक मारे जा चुके हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार