इबोला: लाइबेरिया में इमरजेंसी घोषित

  • 7 अगस्त 2014
इमेज कॉपीरइट

लाइबेरिया में संक्रामक बीमारी इबोला फैलने के कारण आपातकाल घोषित कर दिया गया है. विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक़ अकेले लाइबेरिया में इबोला ने कम से कम 282 लोगों की जान ली है.

इबोला वायरस है क्या? पढ़ें यह ख़ास ख़बर

पश्चिमी अफ़्रीका में इबोला वायरस संक्रमण ने घातक रूप ले लिया है. गिनी, सिएरा लियोन और नाइजीरिया में इस वायरस से 930 से ज़्यादा लोगों की मौत हुई है.

लाइबेरिया के राष्ट्रपति इलेन जॉनसन सरलीफ़ ने राष्ट्रीय टेलीविज़न पर 90 दिन के आपातकाल की घोषणा की.

डब्ल्यूएचओ विशेषज्ञ इस घातक संक्रमण से निपटने के लिए जेनेवा में बैठक कर रहे हैं.

दो दिन तक चलने वाली इस बैठक में निर्णय लिया जाएगा कि इसे विश्व आपदा घोषित किया जाए या नहीं?

वीज़ा नहीं

इमेज कॉपीरइट

इस बीच, सऊदी अरब ने कहा है कि वह इबोला से प्रभावित पश्चिम अफ़्रीका के तीन देशों- लाइबेरिया, गिनी और सिएरा लियोन के नागरिकों को हज के लिए वीज़ा नहीं देगा.

सऊदी अरब के स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि देश के सभी हवाई अड्डों और बंदरगाहों पर डॉक्टरों की विशेष टीमें तैनात की जा रही हैं ताकि वायरस प्रभावित तीर्थयात्रियों की पहचान की जा सके.

मंत्रालय के मुताबिक़ इबोला पीड़ित एक शख़्स का अज्ञात स्थान पर इलाज चल रहा है. यह सऊदी नागरिक सिएरा लियोन से वापस आया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार