ग़ज़ा: मियाद करीब और अधर में संघर्ष विराम

इमेज कॉपीरइट AFP

ग़ज़ा पट्टी में फ़लस्तीनियों और इसराइल के बीच संघर्ष विराम को बढ़ाने के बारे में तीसरे दिन की वार्ता के बाद भी कोई प्रगति नहीं दिख रही है.

ये बातचीत मिस्र की राजधानी काहिरा में चल रही है.

इसराइल का कहना है कि वो 72 घंटे के संघर्ष विराम को बढ़ाने के लिए तैयार है जिसकी समयसीमा शुक्रवार सुबह ख़त्म हो रही है.

लेकिन ग़ज़ा में शासन करने वाले गुट हमास ने फ़लस्तीनी वार्ताकारों से आग्रह किया है कि जब तक इसराइल ग़ज़ा की नाकाबंदी ख़त्म करने के लिए राज़ी नहीं होता है, वो संघर्ष विराम को आगे बढ़ाने के लिए सहमत न हों.

दूसरी तरफ़ ख़बर है कि ग़ज़ा में लोग खाने-पीने और ज़रूरत की अन्य चीजें जमा कर रहे हैं क्योंकि अभी ये साफ़ नहीं है कि लड़ाई ख़त्म हो जाएगी या फिर दोबारा शुरू होगी.

इमेज कॉपीरइट Reuters

गज़ा में लगभग एक महीने से जारी संघर्ष में अब तक लगभग 1900 फ़लस्तीनी मारे गए हैं जबकि तीन आम लोगों समेत इसराइल के कुल 67 लोग मारे गए हैं.

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बान की मून ने इस संकट को तुरंत रोकने की मांग की है. उन्होंने इस संकट को 'पीड़ा का फ़िज़ूल चक्र' बताया है.

इमेज कॉपीरइट AFP

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार