मोसूल बांध पर आईएस का क़ब्ज़ा ख़त्म

कुर्द पशमर्गा इमेज कॉपीरइट AP

कुर्द अधिकारियों के अनुसार उनके सैनिकों ने मोसूल बांध पर क़ब्ज़ा कर लिया है.

इराक़ का यह सबसे बड़ा बांध सात अगस्त से इस्लामिक स्टेट के क़ब्ज़े में था.

कुर्द अधिकारियों के अनुसार इस्लामिक स्टेट के लड़ाके बांध से पीछे हट गए हैं.

अमरीकी हवाई हमलों की मदद से रविवार सुबह को कुर्द सैनिकों ने मोसूल बांध पर बड़े हमले शुरू कर दिए थे.

अमरीकी रक्षा मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा है कि अमरीकी लड़ाकू विमानों और ड्रोन ने आईएस ठिकाने को निशाना बनाते हुए रविवार को 14 हवाई हमले किए थे. इन हमलों में बांध के निकट आईएस की 19 गाड़ियों और एक चेक पोस्ट को पूरी तरह तबाह करने का दावा किया गया है.

इमेज कॉपीरइट AFP

इराक़ के दूसरे सबसे बड़े शहर मोसूल से तीस किलोमीटर उत्तर में स्थित इस बांध से उत्तरी इराक़ के बड़े हिस्से में बिजली और पानी की सप्लाई होती है.

ज़बरदस्त विरोध

इस्लामिक स्टेट ने उत्तरी इराक़ और सीरिया के बड़े हिस्से पर क़ब्ज़ा कर इस्लामिक ख़िलाफ़त (देश) घोषित कर दिया है.

इराक़ के पूर्व विदेश मंत्री और कुर्द नेता होशयार ज़ेबारी ने बीबीसी को बताया है कि पेशमर्ग सैनिकों को बांध पर क़ब्ज़े के दौरान ज़बरदस्त विरोध का सामना करना पड़ा.

उनका कहना है कि अगला उद्देश्य निनावेह प्रांत के बड़े मैदानी हिस्से को इस्लामिक स्टेट चरमपंथियों से मुक्त करना है ताकि अल्पसंख्यक वापस अपने घर लौट सकें.

इस्लामिक स्टेट की बढ़त के कारण लाख़ों यज़ीदी और ईसाई पलायन कर गए हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्वीटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार