ओबामा की लोगों से शांति बनाए रखने की अपील

बराक ओबामा इमेज कॉपीरइट AFP

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने मिसौरी प्रांत में पुलिस की गोली से मारे गए एक काले युवक के बाद हिंसक प्रदर्शन कर रहे लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है.

अमरीकी के मिसौरी प्रांत में नौ अगस्त को पुलिस ने 18 साल के एक निहत्थे काले युवक माइकल ब्राउन को उस समय गोली मार दी थी जब चश्मदीदों के अनुसार वो युवक पुलिस के सामने आत्मसमर्पण करना चाह रहा था.

अपने दफ़्तर एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान ओबामा ने कहा कि वो लोगों के जज़बात और नाराज़गी को समझते हैं लेकिन ग़ुस्से में लूट-पाट करना और पुलिस पर हमले करने से तनाव और बढ़ता है.

ओबामा ने कहा कि उन्हें इस बात की जानकारी है कि अमरीका में ऐसे कई समुदाए हैं जिनमें और पुलिस अधिकारियों के बीच अविश्वास का माहौल है. उन्होंने उन वर्गों से आग्रह किया कि वो इस खाई को दूर करने की कोशिश करें.

छह गोलियां मारी गईं

इमेज कॉपीरइट AFP

ओबामा ने कहा कि एटॉर्नी जनरल एरिक होल्डर मिसौरी जा रहे हैं और वो मामले की जांच कर रहे अधिकारियों से मुलाक़ात करेंगे.

इससे पहले माइकल ब्राउन के शव का पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर ने जानकारी दी है कि ब्राउन को छह गोलियाँ मारी गईं थीं जिनमें से दो गोलियाँ सिर में लगीं थीं.

माइकल ब्राउन के परिवार ने डॉक्टर माइकल बाडेन को उनका दूसरा, स्वतंत्र पोस्टमार्टम करने के लिए कहा था.

परिवार ने ब्राउन की हत्या करने वाले पुलिस अधिकारी की गिरफ़्तारी की मांग की है.

इस बीच मिसौरी के सेंट लुई इलाक़े में तनाव और आगज़नी जारी है.

नेशनल गार्ड तैनात

राज्य के गवर्नर ने इलाक़े में सुरक्षा व्यवस्था संभालने के लिए नेशनल गार्ड को बुलाया गया है.

ब्राउन को गोली मारने वाले पुलिस अधिकारी डेरेन विलसन को निलंबित कर दिया गया है.

इमेज कॉपीरइट European Photopress Agency

तनाव और आगज़नी के कारण दंगा विरोधी पुलिस को रबड़ की गोलियाँ चलानी पड़ीं और आँसू गैस छोड़नी पड़ी.

पोस्टमॉर्टम में डॉ. बाडेन के सहायक रहे फोरेंसिक पैथोलॉजिस्ट शॉन पारसल्स का कहना है कि ब्राउन के दाएं बांह का घाव दर्शाता है कि गोली लगने के वक़्त उनके हाथ ऊपर रहे होंगे.

इमेज कॉपीरइट AFP

ब्राउन का दूसरा पोस्टमॉर्टम करने वाले डॉक्टर बाडेन का कहना है कि, "परिवार को जानने का हक़ है कि उनका प्रिय कैसे मरा. इससे परिजनों और समुदाय को शांति मिलेगी."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार