नवाज़ हटेंगे तो ही बातचीत होगी : इमरान ख़ान

  • 20 अगस्त 2014
इमेज कॉपीरइट AP

पाकिस्तान में नवाज़ शरीफ़ के इस्तीफ़े की मांग पर अड़े तहरीक ए इंसाफ पार्टी के नेता इमरान ख़ान ने कहा है कि लोकतांत्रिक सरकार होने के नाते वो बातचीत के लिए तैयार हैं लेकिन वार्ता की पहली शर्त नवाज़ शरीफ़़ का पद छोड़ना है.

इमरान ख़ान ने परेड ग्राउंड में अपने समर्थकों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ यह न समझे कि वह शायद घबरा यहां से चला जाएंगे. लेकिन वह उस समय तक नहीं जाएंगे जब तक शरीफ़़ इस्तीफा नहीं दे देते.

ताहिरूल कादिरी ने भी कहा कि पाकिस्तान में भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए नवाज़ को जाना होगा.

हज़ारों की तादाद में इमरान ख़ान और ताहिरूल कादिरी के समर्थक रेड़ ज़ोन इलाके में मौजूद हैं.

इस बीच, नवाज़ शरीफ़ की बेटी मरियम शरीफ़ ने ट्विटर पर लिखा है कि इमरान पूरा जीवन कंटेनर पर गुजार सकते हैं लेकिन नवाज शरीफ़ इस्तीफा नहीं देंगे.

इमेज कॉपीरइट Reuters

इमरान ख़ान की प्रमुख मांगें है

  • प्रधानमंत्री नवाज शरीफ़ इस्ती़फा
  • फिर चुनाव कराए जाएं
  • सभी राजनीतिक दलों के परामर्श से निष्पक्ष नागरिक सरकार बनाई जाए
  • सभी चुनाव कमिश्नरों से इस्तीफे लिए जाएं
  • 2013 के चुनाव में 'धांधली' में शामिल लोगों को दंडित किया और तहत मुकदमा चलाया जाए

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार