ओबामा जी छुट्टी मनाएं भी, तो कैसे?

इमेज कॉपीरइट Reuters

मोदी कभी छुट्टी पर जाते नहीं. नवाज़ शरीफ़ छुट्टी पर जाना नहीं चाहते लेकिन इमरान ख़ान उन्हें ज़बरदस्ती छुट्टी पर भेजने के लिए दिन-रात एक किए हुए हैं.

वहीं बिचारे ओबामा जी को वॉशिंगटन की रोज़ की मारामारी से निकलकर छुट्टी पर जाना अच्छा लगता है, तो जैसे उस पर पूरी दुनिया की नज़र लग जाती है.

कुल दो हफ़्ते की छुट्टी पर गए थे ओबामा. सोचा था तरोताज़ा होकर वॉशिंगटन लौटेंगे. लेकिन लगता है कि उनकी छुट्टी को किसी की नज़र लग गई.

पढ़िए विस्तार से ब्रजेश उपाध्याय की डायरी

मानो इराक़ में चरमपंथी इंतज़ार ही कर रहे थे. मौक़ा देखते ही दादागिरी तेज़ कर दी और कह दिया जो बन पड़े कर लो.

अब दुनिया का दादा तो भाई साहब बस एक ही है.

तो ओबामा जी को कैमरे पर आना पड़ा और दुनिया को बताना पड़ा कि अगली फ़्लाइट से अपने कारकूनों को इराक़़ भेज रहे हैं इन ग़ुंडों को क़ाबू में लाने के लिए.

फिर सोचा कि अब थोड़ी छुट्टी मना लें. गॉल्फ़ खेला, आईसक्रीम खाई, साइकिल चलाने निकले और शाम को एक दोस्त की बर्थ डे पार्टी थी तो बीवी-बच्चों समेत वहां भी पहुंचे.

इमेज कॉपीरइट EPA

पता चला कि पार्टी में हर गाने पर डांस किया उन्होंने और देर रात तक मस्ती की. अब अगले दिन तो पांव पसार कर देर तक सोना बनता था न?

लेकिन सुबह-सुबह ख़बर आई कि मिसूरी में दंगे हो रहे हैं, पुलिस ऐसे बर्ताव कर रही है जैसे काले अमरीकियों को नहीं तालिबान को क़ाबू में करने की कोशिश हो रही हो.

मरता क्या न करता. कमांडर इन चीफ़ फिर से आए कैमरे पर, सबको शांत होने को कहा, जल्द से जल्द अपने मुलाज़िमों को वहां भेजने की बात की. नींद तो ख़राब हो ही चुकी थी, सोचा गॉल्फ़ खेल लें.

ओबामा की खिंचाई

इमेज कॉपीरइट AP

खेल शुरू ही किया था कि इराक़ी ग़ुंडों ने दिल दहलाने वाला एक वीडियो जारी कर दिया. ख़ून खौलना तो लाज़मी था. फिर कैमरे पर आए, ग़ुंडों को बुरा-भला कहा, सबक़ सीखाने की बात की और भन्नाए हुए चल दिए जो खेल बीच में छोड़कर आए थे उसे पूरा करने.

आख़िर खेल का भी एक क़ायदा होता है. ओबामा ने अपनी बारी ले ली होगी, जिसके साथ खेल रहे थे उसकी बारी भी तो देनी थी.

इमेज कॉपीरइट Getty

लेकिन बेड़ा ग़र्क़ हो अख़बारवालों का. एक ने फ़्रंट पेज पर दो बड़ी सी तस्वीरें लगा दी – एक में ओबामा गोल्फ़ खेल रहे हैं और दूसरी में मिसूरी को जलता हुआ दिखाया गया है.

यानी रोम जल रहा था, नीरो बंसी बजा रहा था. रिपब्लिकंस को बैठे-बैठे मसाला मिल गया.

और तो और, कल तक यारी दोस्ती की बात करने वाली हिलेरी क्लिंटन ने भी मौक़ा देखा और सुई चुभो दी.

हिलेरी क्लिंटन 2016 में फिर से व्हाइट हाउस में घुसने का सपना देख रही हैं और उनके लिए ज़रूरी हो रहा है ओबामा की नाकामियों से ख़ुद को अलग करना. बस उन्होंने भी एक इंटरव्यू में ओबामा की विदेश नीति की खिंचाई कर डाली.

ज़ख़्म पर नमक

और फिर ज़ख़्म पर नमक लगाने उसी शहर में अपनी किताब को प्रमोट करने पहुंच गईं जहां ओबामा छुट्टी मना रहे थे.

साथ ही ओबामा को फ़ोन करके ये भी कह दिया कि मेरा आपको नीचा दिखाने का कोई मक़सद नहीं था, माफ़ी चाहती हूं. परसों एक पार्टी हो रही है उसमें आपसे मुलाक़ात तो होगी न?

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

अंदर से ख़ून का घूंट भरते हुए ओबामा ने कहा होगा, ज़रूर मुलाक़ात होगी.

ख़ैर, सोमवार को उनकी छुट्टी ख़त्म हो रही है. कहां तो तरोताज़ा होने गए थे, और कहां चार और बाल सफ़ेद हो गए.

लगता ही नहीं है कि ये वही चेहरा है जिसके साथ बिकनी पहने हुई सुपरमॉडल्स समंदर में नहाने का सपना देखती थी और गाती थीं आई हैव गॉट ए क्रश ऑन ओबामा!

तो भाइयो और बहनो, ज़रा दुनिया को शांत रखें. एक राष्ट्रपति थे जिन्होंने अपने हिसाब से काफ़ी सोच समझ कर इराक़़ पर हमला किया था और दुनिया का उसके बाद क्या हाल हुआ आपने देखा ही है.

ओबामा तो भन्नाए हुए लौट रहे हैं. ऐसे में कुछ ऐसा-वैसा फ़ैसला कर लिया तो भुगतना आप ही को होगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार