फ़्रांस: पीएम का इस्तीफ़ा, सरकार भंग

  • 25 अगस्त 2014
मैनिएल वाल्स इमेज कॉपीरइट AFP

फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांड ने प्रधानमंत्री मैनिएल वाल्स के इस्तीफ़े के बाद सरकार को भंग करने की घोषणा की है.

सरकार के दो मंत्रियों ने राष्ट्रपति की आर्थिक नीतियों की सार्वजनिक आलोचना की जिससे उपजे हालात के बीच अब उन्होंने प्रधानमंत्री मैनिएल वाल्स से नई सरकार गठित करने को कहा है.

रविवार को फ्रांस के आर्थिक मंत्री गियार्नो मॉन्टबूर ने अर्थव्यवस्था की ख़राब हालत को लेकर ओलांड सरकार की आलोचना की थी.

उन्होंने कहा था कि सरकार ने ख़र्च कम करने के लिए जो कड़े कदम उठाए हैं उनसे आर्थिक विकास पर असर पड़ रहा है.

वाल्स ने इसके बाद मॉन्टबूर पर आरोप लगाया था कि वो 'अपनी हद' पार कर रहे हैं.

वाल्स के इस्तीफ़े के बाद ओलांड ने एक बयान जारी कर कहा कि वो एक नई सरकार बनाएं जो 'देश के लिए (ओलांड के द्वारा) तय की गई दिशा के अनुरूप हो.'

अर्थव्यवस्था की नाज़ुक हालत

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption मॉन्टबूर का कहना है कि जर्मनी अपनी नीतियां पूरे यूरोप पर थोप रहा है.

माना जा रहा है कि ओलांड ने ये संदेश दिया है कि वो ऐसे समय में विरोध बर्दाश्त नहीं करेंगे जबकि अर्थव्यवस्था नाज़ुक दौर से गुज़र रही है.

फ्रांस में अभी बेरोज़गारी दर 10 प्रतिशत से ज़्यादा है और आर्थिक विकास थमा हुआ है. सर्वेक्षणों के मुताबिक 20 प्रतिशत से भी कम मतदाता ही ये मानते हैं कि ओलांड अर्थव्यवस्था की हालत सुधार सकते हैं.

ओलांड चाहते हैं कि वो ख़र्चों में कटौती करें ताकि कंपनियों को टैक्स छूट दी जा सके और इससे अर्थव्यवस्था में सुधार आए लेकिन उनकी ही पार्टी में कई लोग हैं जो इससे असहमत हैं.

उनके विरोधी चाहते हैं कि ओलांड कड़े कदम से ध्यान हटा लें और लोगों को सीधे रक़म मुहैया कराएं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार