आज योजना आयोग के भविष्य पर बैठक

मोंटेक सिंह और मनमोहन सिंह इमेज कॉपीरइट AP
Image caption ख़बरों के मुताबिक पूर्व उपाध्यक्ष मोंटेक सिंह अलहुवालिया इस बैठक में हिस्सा नहीं लेंगे.

आज दिल्ली में योजना आयोग की पुराने सदस्यों के साथ बैठक, पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में मुशर्रफ़ के मुकदमें की सुनवाई, रूसी राष्ट्रपति पुतिन और यूक्रेन के राष्ट्रपति पोरोशेंको के बीच वार्ता के अलावा बिहार और अन्य राज्यों में हुए उप-चुनावों में बीजेपी को लगे झटके के बाद बयानबाज़ी पर रहेगी नज़र

योजना आयोग का भविष्य

आज दिल्ली में योजना आयोग ने पुराने उपाध्यक्षों और कुछ सदस्यों को एक बैठक के लिए बुलाया है जहां इस बात पर चर्चा होगी कि योजना आयोग की जगह लेने वाली नई संस्था का स्वरूप कैसा हो.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption मोदी ने 15 अगस्त के भाषण में साफ़ कहा था कि योजना आयोग का स्थान नई संस्था लेगी.

ख़बरों के मुताबिक अभिजीत सेन, अरुण मैरा, बीके चतुर्वेदी, सैयदा हमीद और नरेंद्र जाधव को इस मीटिंग के लिए बुलाया गया है.

इस बैठक में आयोग के पूर्व उपाध्यक्ष मोंटेक सिंह अहलुवालिया को भी बुलाया गया है लेकिन समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार उनके शामिल होने पर अनिश्चितता है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पंद्रह अगस्त को अपने भाषण में साफ़ कर दिया था कि योजना आयोग की जगह अब एक नई संस्था वजूद में आएगी.

एडीबी के मुखिया भारत में

एशियाई विकास बैंक (एडीबी) के अध्यक्ष ताकेहिको नाकाओ आज से अपना भारत दौरा शुरु करेंगे.

नाकाओ, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली से मुलाक़ात करेंगे.

आज वित्त मंत्री अरुण जेटली एक प्रेसवार्ता को भी संबोधित करेंगे.

मुशर्रफ़ पर राजद्रोह का मुकदमा

इमेज कॉपीरइट Getty

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज़ मुशर्रफ़ के ख़िलाफ़ चल रहे राजद्रोह के मुकद्दमें की सुनवाई आज इस्लामाबाद में होगी.

पाकिस्तान की संघीय जांच एजेंसी एफ़आईए ने मुशर्रफ़ पर अभियोग लगाया है कि उन्होंने तीन नवंबर 2007 को पाकिस्तान में आपातकाल की घोषणा करते समय संविधान का उल्लंघन किया था.

पुतिन पोरोशेंको वार्ता

इमेज कॉपीरइट Getty

रुसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और यूक्रेन के राष्ट्रपति पेट्रो पोरोशेंको आज बैलारूस की राजधानी मिंस्क में एक बैठक करेंगे.

पोरोशेंको के जून में राष्ट्रपति पद संभालने के बाद ये अपनी तरह की पहली बैठक होगी.

यू्क्रेन अपने पूर्वी हिस्से में रूस की हिमायत करने वाले हथियारबंद अलगाववादियों से युद्ध लड़ रहा है.

सियासी बयानबाज़ी

तीन महीने पहले आम चुनाव में पटखनी खाने के बाद कांग्रेस और उसके सहयोगी दल सोमवार को आए उपचुनाव के नतीजों से उत्साहित हैं.

चार राज्यों में कुल 18 सीटों में से दस उनके खाते में गई हैं और आज ख़ूब टीका-टिप्पणी और सियासी बयानबाज़ियां सुनने को मिल सकती है.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)