ऑस्कर पिस्टोरियस ग़ैर इरादतन हत्या के दोषी

ऑस्कर पिस्टोरियस इमेज कॉपीरइट AP

प्रिटोरिया में पैरालंपिक एथलीट ऑस्कर पिस्टोरियस को गर्लफ़्रेंड रीवा स्टीनकैंप की हत्या के मामले में जज ने ग़ैर-इरादतन हत्या का दोषी पाया है.

13 अक्टूबर को पिस्टोरियस को फ़ैसला सुनाए जाने तक पिस्टोरियस को ज़मानत पर रहने की छूट दे दी गई है.

जज थोकोसाइल मासीपा ने पिस्टोरियस को हथियार रखने और कुछ अन्य आरोपों से बरी कर दिया.

फ़ैसले के बाद पिस्टोरियस को 15 साल तक जेल में बिताने बड़ सकते हैं हालांकि क़ानून के जानकारों के मुताबिक़ उन्हें सात से 10 साल तक की सज़ा सुनाई जा सकती है.

दक्षिण अफ़्रीका के अभियोजन पक्ष ने कहा कि उसे निराशा है कि पिस्टोरियस को हत्या का दोषी नहीं ठहराया जा सका पर वो फ़ैसले तक इंतज़ार करेंगे कि अपील करनी है या नहीं.

दक्षिण अफ़्रीका की अदालत ने गुरुवार को फ़ैसला सुनाना शुरू किया था. पहले दिन उन्होंने ऑस्कर पिस्टोरियस को स्टीनकैंप की 'पूर्वनियोजित हत्या' के आरोपों से बरी कर दिया था.

आरोपों से इनकार

पिस्टोरियस पर 29 साल की अपनी महिला मित्र रीवा स्टीनकैंप की पिछले साल वेलेंटाइन डे के दिन (14 फ़रवरी 2013) पूर्वनियोजित तरीक़े से हत्या करने का आरोप था. हालांकि वह इन आरोपों से इनकार करते रहे.

इमेज कॉपीरइट Reuters

उनका कहना है कि किसी बाहरी व्यक्ति का आभास होने पर उन्होंने गोली चलाई थी.

मुक़दमे की कार्यवाही इस साल तीन मार्च को शुरू हुई थी. इस दौरान 37 लोगों की गवाही का परीक्षण हुआ.

मुक़दमे की कार्यवाही का टीवी पर सीधा प्रसारण किया गया. इसने दुनिया भर में लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचा.

पिस्टोरियस ने लंदन में 2012 में आयोजित पैरालंपिक में 400 मीटर दौड़ का स्वर्ण पदक जीता था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार