पिस्टोरियस पर फ़ैसले से रीवा के परिजन निराश

ऑस्कर पिस्टोरियस इमेज कॉपीरइट AP

दक्षिण अफ्रीकी एथलीट ऑस्कर पिस्टोरियस को अपनी गर्लफ्रेंड रीवा स्टीनकैंप के क़त्ल के आरोप से बरी किए जाने पर रीवा के परिजनों का कहना है कि 'न्याय नहीं हुआ है'.

जून और बैरी स्टीनकैंप ने एनबीसी न्यूज़ से बात करते हुए अदालत के फ़ैसले पर हैरानी ज़ाहिर की.

जज थोकोसाइल मासीपा ने उन्हें ग़ैर इरादतन हत्या के हल्के आरोप का दोषी पाया है. पिस्टोरियस को हथियार रखने और कुछ अन्य आरोपों से भी बरी कर दिया.

जज ने कहा कि अभियोजन पक्ष ये साबित करने में नाकाम रहा है कि पिस्टोरियस का इरादा स्टीनकैंप की हत्या करने का था.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

13 अक्टूबर को सज़ा सुनाए जाने तक पिस्टोरियस को ज़मानत पर रहने की छूट दे दी गई है.

फ़ैसले के बाद पिस्टोरियस को 15 साल तक जेल में बिताने बड़ सकते हैं हालांकि क़ानून के जानकारों के मुताबिक़ उन्हें सात से 10 साल तक की सज़ा सुनाई जा सकती है.

अभियोजन पक्ष ने भी पिस्टोरियस के क़त्ल के आरोपों से बरी होने पर निराशा प्रकट की है. अभियोजन पक्ष का कहना है कि वे फैसले के बाद ही तय करेंगे कि अपील करनी है या नहीं.

दक्षिण अफ़्रीका की राजधानी प्रिटोरिया में हाई कोर्ट ने गुरुवार को फ़ैसला सुनाना शुरू किया था. पहले दिन ऑस्कर पिस्टोरियस को स्टीनकैंप की 'पूर्वनियोजित हत्या' के आरोपों से बरी कर दिया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार