इबोला से लड़ाई, एक अरब चाहिए: संयुक्त राष्ट्र

  • 16 सितंबर 2014
इमेज कॉपीरइट AFP

संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि इबोला महामारी इतनी भयंकार हो चुकी है कि इससे लड़ने के लिए एक अरब डॉलर की ज़रुरत है.

संयुक्त राष्ट्र के अनुसार इस आपदा की कोई तुलना नहीं हो सकती है.

उल्लेखनीय है कि कुछ महीनों से पश्चिमी अफ्रीका के चार देशों में इबोला महामारी का रुप ले चुका है और इससे 2000 से अधिक लोग मारे जा चुके हैं.

एक महीने में 10 गुना बढ़ी

संयुक्त राष्ट्र के इबोला संयोजक डेविड नबारो ने कहा कि पिछले एक महीने में पश्चिम अफ्रीका में इबोला पीड़ितों की संख्या में दस गुना की बढ़ोतरी हुई है और इससे लड़ने के लिेए एक अरब डॉलर की ज़रुरत है.

नबारो ने यह बात ऐसे समय में कही है जब विश्व स्वास्थ्य संगठन पहले ही इस संकट को ''आधुनिक इतिहास में अतुलनीय संकट'' करार दिया है.

इमेज कॉपीरइट Reuters

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार अब तक इबोला से प्रभावित 4,985 लोगों में से 2,461 लोग मारे जा चुके हैं.

महामारी से निपटने में धीमी अंतरराष्ट्रीय प्रतिक्रिया की भी आलोचना हो रही है.

कुछ समय बाद अमरीकी राष्ट्रपति इबोला से लड़ने के लिए लाइबेरिया में 3000 अमरीकी सैनिक भेजने की घोषणा करने वाले हैं.

मेडिकल संस्था मेडिसिन्स सां फ्रंटियर्स ने दुनिया भर से अपील की थी कि वो पश्चिम अफ्रीका में इबोला महामारी को रोकने के लिए सेनाएं भेंजे. एमएसएफ का कहना है कि लाइबेरिया में हालात बेहद ख़राब हैं और लोग अस्पताल के दरवाज़ों पर खड़े हैं ताकि वो अपने परिवारों में वायरस न फैला सकें.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार