ओबामा ने दोहराया, इराक़ में ज़मीनी युद्ध नहीं

इमेज कॉपीरइट EPA

इस्लामिक स्टेट के ख़िलाफ़ अभियान में जुटे अमरीकी सैनिक को संबोधित करते हुए अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि वो इराक़ में दूसरा ज़मीनी युद्ध लड़ने के लिए प्रतिबद्ध नहीं हैं.

उन्होंने कहा कि वो इस बार इराक़ में सिर्फ़ सहयोगी की भूमिका में रहेंगे.

ओबामा फ़्लोरिडा के टैंपा कैंप में बोल रहे थे.

बराक ओबामा ने कहा, "एक दशक तक ज़मीनी तैनाती के बाद अब हम अपनी अनूठी योग्यताओं का इस्तेमाल वहां मौजूद अपने सहयोगियों की सहायता करके करेंगे. ऐसा ही समाधान भविष्य में कारगर सिद्ध होगा."

लेकिन मंगलवार को एक शीर्ष अमरीकी जनरल ने कहा था कि अगर इराक़ में अंतरराष्ट्रीय गठबंधन इस्लामिक स्टेट को हराने में विफल रहता है तो ज़मीनी लड़ाई भी हो सकती है.

इमेज कॉपीरइट AFP Getty

जनरल मार्टिन डैम्पसी ने कहा था, "अगर गठबंधन विफल रहता है और अमरीका के लिए ख़तरा बना रहता है तो मैं दोबारा राष्ट्रपति के पास जाऊंगा और उनसे अमरीकी थलसेना को इराक़ भेजने की संतुति करुंगा."

बहरहाल बुधवार के भाषण में ओबामा ने कहा कि हम इराक़ियों के लिए वो नहीं कर सकते जो वो ख़ुद अपने लिए कर सकते हैं.

उन्होंने ये भी कहा कि पिछली सदी की तरह ये सदी भी अमरीका की ही होगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार