स्कॉटलैंड के बाद अब कैटालोनिया..

कटालोनिया रैली इमेज कॉपीरइट AFP

स्पेन के स्वायत्त क्षेत्रों में से एक कैटालोनिया ने ज़ोर-शोर से अपने क्षेत्रीय राष्ट्रपति के पक्ष में मतदान किया है ताकि उन्हें आज़ादी के लिए जनमत संग्रह के ज़रिए लोगों के विचार जानने का हक़ मिले.

हालांकि स्पेन सरकार ने इस 'परामर्श मतदान' का विरोध करते हुए इस विवादास्पद मसले को संवैधानिक अदालत में पेश किया है.

ब्रिटेन से अलग होने के ख़िलाफ़ स्कॉटलैंड के मतदान के एक दिन बाद कैटालोनिया ने यह क़दम उठाया है.

कैटालोनिया के राष्ट्रपति आर्टर मास ने कहा कि स्कॉटलैंड के जनमत संग्रह ने कैटालोनिया को आज़ादी की राह दिखाई है.

वह नौ नवंबर को कैटालोनिया में इसी तरह के मतदान की तैयारी कर रहे हैं, ताकि स्पेन से आज़ादी के लिए बड़े पैमाने पर समर्थन मिले.

कैटालोनिया के क़ानून निर्माताओं ने आज़ादी का सुझाव लेने के पक्ष में 106-28 के अंतर से मतदान किया.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption कैटालोनिया के राष्ट्रपति आर्टर मास जनमत संग्रह की तैयारी में जुटे हैं

स्पेन की संवैधानिक अदालत इस मामले पर मंगलवार को विचार कर सकती है और मुमकिन है कि आज़ादी से जुड़े इस क्षेत्र के मतदान को रद्द कर दे.

मास ने कहा कि स्कॉटलैंड द्वारा आज़ादी का फ़ैसला ख़ारिज़ करना उनके लिए कोई झटका नहीं था बल्कि "मतदान का मौक़ा" मिलना अहम था.

स्पेन के प्रधानमंत्री मैरियानो राखोय ने स्कॉटलैंड के फ़ैसले का स्वागत किया है.

कैटालोनिया स्पेन का सबसे अमीर और औद्योगिक क्षेत्र है और यह आज़ादी के समर्थक इलाक़ों में एक हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार