अफ़ग़ानिस्तान में नई सरकार के लिए 'डील'

अफ़ग़ानिस्तान में डील इमेज कॉपीरइट REUTERS
Image caption दोनों नेताओं के बीच हुए समझौते का राष्ट्रीय टीवी पर लाइव प्रसारण हुआ

अफ़ग़ानिस्तान की राजधानी काबुल में राष्ट्रीय एकता सरकार बनाने के समझौते पर हस्ताक्षर हुए हैं.

समझौते के तहत अशरफ़ ग़नी राष्ट्रपति बने हैं, जबकि चुनावों में दूसरे स्थान पर रहे अब्दुल्ला अब्दुल्ला को मुख्य कार्यकारी अधिकारी यानी सीईओ नामित किया गया है.

अफ़ग़ानिस्तान में अप्रैल और जून में राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव हुए थे और महीनों तक हुए गतिरोध के बाद यह समझौता परवान चढ़ा.

अब्दुल्ला को प्रधानमंत्री के बराबर ही अधिकार दिए गए हैं.

राष्ट्रपति चुनावों के नतीजों की घोषणा होनी अभी बाक़ी है. चुनावों के बाद दोनों पक्षों ने एक-दूसरे पर धांधली के आरोप लगाए थे.

समझौते का स्वागत

ग़नी और अब्दुल्ला ने काबुल के राष्ट्रपति पैलेस के अंदर एक समारोह में समझौते पर हस्ताक्षर किए. इसके बाद वे खड़े हुए और एक-दूसरे को गले लगाया.

निवर्तमान राष्ट्रपति हामिद करज़ई ने ग़नी और अब्दुल्ला को बधाई दी और कहा कि समझौता 'देश की उन्नति और विकास के लिए' है.

इमेज कॉपीरइट BBC World Service

करज़ई ने कहा, "अफ़ग़ानिस्तान की ओर से इस समझौते पर पहुंचने के लिए मैं उन्हें बधाई दे रहा हूं."

अमरीका ने इसका स्वागत करते हुए इसे 'एकता के लिए महत्वपूर्ण अवसर' बताया है.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार