शी के बयान को भारत से न जोड़ें: चीन

  • 23 सितंबर 2014
इमेज कॉपीरइट Getty

चीन ने कहा है कि राष्ट्रपति शी जिनपिंग के उस बयान को भारत से न जोड़ कर देखा जाए जिसमें उन्होंने चीनी सेना से क्षेत्रीय लड़ाई के लिए तैयार रहने को कहा है.

चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता ख्वा चुन यिंग ने कहा, "जिनपिंग के बयान को भारत से जोड़कर देखना एक अटकल के सिवा कुछ भी नहीं है."

ख़ास कर भारत में उनके इस बयान को भारत-चीन सीमा विवाद से जोड़कर देखा जा रहा है.

चीन ने कहा कि भारत और चीन के नेता सीमा विवाद को दोस्ताना तरीक़े से बातचीत के ज़रिए सुलझाने का फ़ैसला कर चुके हैं.

'सफल दौरा'

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption चीन ने कहा कि भारत और चीन के बीच सारे विवाद दोस्ताना तरीके से सुलझाने पर सहमति बन गई है.

शी ने भारत यात्रा से लौटने के बाद सोमवार को कहा था, "पीपुल्स लिबरेशन आर्मी तकनीक के इस दौर में क्षेत्रीय युद्ध को जीतने के लिए और देश के सर्वोच्च नेतृत्व के हर फ़ैसले को मानने के लिए तैयार रहें."

लेकिन ख्वा चुन यिंग ने कहा कि चीनी राष्ट्रपति का भारत दौरा बहुत सफल रहा और उन्हें भारत में ज़बरदस्त स्वागत मिला.

उनके मुताबिक़ दोनों देशों के बीच कुछ मुद्दों पर ज़रूर मतभेद हैं लेकिन उन्हें सुलझाने के तरीकों पर भारत और चीन दोनों में आपसी सहमति है.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार