होस्नी मुबारक पर अदालत सुनाएगी फ़ैसला

होस्नी मुबारक, मिस्र के पूर्व राष्ट्रपति इमेज कॉपीरइट AP

मिस्र की एक अदालत पूर्व राष्ट्रपति होस्नी मुबारक के ख़िलाफ़ भ्रष्टाचार और 2011 में प्रदर्शनकारियों की हत्या के आरोपों में दोबारा शुरू हुए मुक़दमे में फ़ैसला देने वाली है.

उनको 2012 में इन आरोपों का दोषी पाए जाने के बाद आजीवन कारावास की सज़ा सुनाई गई थी.

लेकिन बाद में एक अदालत ने तकनीकी आधार पर मामले की दोबारा सुनवाई का आदेश दिया था.

86 वर्षीय मुबारक के साथ-साथ उनके बेटे और पूर्व गृह मंत्री हबीब अल अदली के ख़िलाफ़ मुक़दमा चल रहा है.

पढ़ेंः मुबारक को उम्र क़ैद, मिस्र में जश्न

तीन साल की जेल

मुबारक ने मिस्र पर 30 वर्षों तक शासन किया, लेकिन 2011 में देशव्यापी आंदोलनों के बाद उनको सत्ता से बेदख़ल होना पड़ा था.

उस दौरान कई हफ़्तों तक जारी प्रदर्शनों में पूरे मिस्र में सैकड़ों लोगों की मौत हो गई थी.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption सरकारी धन के गबन के लिए होस्नी मुबारक अभी तीन साल के जेल की सज़ा काट रहे हैं.

अगस्त में मुबारक को अदालत में भाषण देने की अनुमति दी गई थी, जिसका सीधा प्रसारण मिस्र के टेलीविज़न चैनल पर किया गया था.

मुबारक सरकारी संपत्ति के गबन के लिए तीन साल जेल की सज़ा काट रहे हैं.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार