मोदी के भाषण पर क्या बोला अमरीकी मीडिया?

नरेंद्र मोदी इमेज कॉपीरइट Reuters

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने न्यूयॉर्क के ऐतिहासिक मेडिसन स्क्वेयर गार्डन में जब हज़ारों लोगों को संबोधित किया तो उनके भाषण को अमरीकी मीडिया ने भी गौर से सुना.

उनके अमरीका दौरे की शुरुआत से ही मीडिया में भाषणों की चर्चा के साथ साथ उनके हर कार्यक्रम के बारे में चर्चा की गई और यहां तक कि उनका लिबास और नवरात्रि के व्रत भी चर्चा के विषय रहे.

न्यू यॉर्क टाइम्स, वॉशिंगटन पोस्ट, वॉशिंगटन टाईम्स, न्यू यॉर्क डेली न्यूज़ जैसे अख़बारों में विस्तार से भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चर्चा हो रही है.

'रॉकस्टार मोदी'

इमेज कॉपीरइट Reuters

मेडिसन स्क्वेयर में मोदी को मिली प्रतिक्रिया की चर्चा करते हुए एक अमरीकी समाचार पत्र यूएस ए टुडे ने लिखा है कि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को रॉक स्टार का दर्जा मिल गया है.

एक अमरीकी समाचार एजेंसी ने लिखा कि मोदी ऐसे स्टेज पर आए जैसे कोई मशहूर बॉक्सर रिंग में प्रवेश कर रहा हो.

भारतीय मूल के अमरीकी लोगों के जोश का ज़िक्र किया गया और लिखा गया कि कुछ लोग तो मोदी की लोकप्रियता की तुलना अमरीका में कुछ वर्षों पहले बराक ओबामा की लोकप्रियता से कर रहे हैं.

'भारतीयों का बढ़ता रसूख'

अमरीकी समाचार पत्रों में यह भी कहा जा रहा है कि इस दौरान लोगों के जुनून को देखकर अमरीका में भारतीय मूल के बढ़ते हुए असर और रुसूख का भी पता चलता है.

अमरीका में रहने वाले करीब 30 लाख भारतीय मूल के लोगों के बारे में कहा गया है कि यह सबसे धनी अप्रवासियों में शामिल हैं जो भारत में विदेशी निवेश और व्यापार बढ़ाने में नरेंद्र मोदी की मदद कर सकते हैं.

न्यूयॉर्क डेली न्यूज़ ने लिखा है कि नरेंद्र मोदी की अमरीका में जो आवभगत हो रही है वह भारत में व्यापार के सिलसिले में उनके अच्छे नेतृत्व के कारण है.

विरोध प्रदर्शन

इमेज कॉपीरइट Salim Rizvi

लेकिन इस सबके साथ ही कई अखबारों ने मेडिसन स्क्वेयर गार्डन के बाहर नरेंद्र मोदी के खिलाफ़ सैकड़ों लोगों के विरोध प्रदर्शनों की भी चर्चा की.

जब इमारत के अंदर वह भाषण दे रहे थे तो बाहर गुजरात दंगों में मोदी की कथित भूमिका के सिलसिले में विरोध प्रदर्शन किए जा रहे थे.

यूएस ए टुडे ने तो हेडलाइन में ही कहा कि न्यूयॉर्क में मोदी ने कुछ को हर्षोल्लास से भरा तो कुछ को नाराज़ किया.

अब सभी अमरीकी अखबारों और समाचार माध्यमों की नज़र लगी है कि नरेंद्र मोदी औऱ बराक ओबामा के बीच मुलाकात कैसी रहती है.

(बीबीसी हिंदी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार