'अल्पसंख्यक मुद्दों पर मोदी से चर्चा हो'

  • 30 सितंबर 2014
मोदी के विरोध में प्रदर्शन इमेज कॉपीरइट Salim Rizvi

अमरीकी संसद के 11 सदस्यों ने राष्ट्रपति बराक ओबामा से नरेंद्र मोदी के साथ बैठक में अल्पसंख्यकों का मुद्दा भी उठाने का आग्रह किया है.

2002 के गुजरात दंगों के लिए न्याय और जवाबदेही की मांग करते आए संगठन कोअलिशन अगेंस्ट जिनोसाइड (सीएजी) ने 11 अमरीकी सांसदों के ओबामा को लिखे पत्र का स्वागत किया है.

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की राष्ट्रपति ओबामा से मुलाक़ात होनी है.

मोदी का विरोध

पत्र में कहा गया है कि मोदी के 100 दिनों के शासनकाल में मुसलमानों और ईसाइयों के ख़िलाफ़ हिंसा की घटनाओं में तेज़ी आई है.

इमेज कॉपीरइट COALITION AGAINST GENOCIDE

पत्र में कहा गया है कि ये घटनाएं 2002 के गुजरात दंगों की तरह ही हैं, जब मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे.

रविवार को मैडिसन स्क्वेयर गार्डन पर मोदी के संबोधन के दौरान भी मोदी के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन हुए थे.

इससे पहले भी अमरीकी सांसद माइक हॉन्डा ने विदेश मंत्री जॉन कैरी को पत्र लिखकर भारत में मानवाधिकारों के उल्लंघन और धार्मिक स्वतंत्रता के मुद्दों को मोदी-ओबामा की चर्चा में शामिल करने की मांग की थी.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार