मोबाइल इस्तेमाल के लिए भी दिशा-निर्देश

उत्तर कोरिया इमेज कॉपीरइट AFP

उत्तर कोरिया में मोबाइल फ़ोन का इस्तेमाल इस क़दर बढ़ गया है कि उसका इस्तेमाल करते समय किन बातों का ख़्याल रखा जाना ज़रूरी है इसके लिए सरकारी मीडिया ने दिशा निर्देश जारी किए हैं.

दक्षिण कोरिया की एक समाचार एजेंसी यॉनहैप ने एक सांस्कृतिक मैगज़ीन में छपे एक लेख का हवाला देते हुए कहा है कि मोबाइल फ़ोन के बढ़ते इस्तेमाल से कुछ लोगों में 'फ़ोन इस्तेमाल के शिष्टाचार का पालन न करने की प्रवृत्ति हो गई है.'

उसी लेख में कहा गया है कि जिन समस्याओं का ज़िक्र है उनमें 'फ़ोन पर ज़ोर-ज़ोर से बात करना, और सार्वजनिक जगहों पर फ़ोन से बात करते समय बहस करना शामिल हैं.'

परिचय

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption उत्तर कोरिया के नेता एक मोबाइल कंपनी का निरीक्षण करते हुए

मैगज़ीन के अनुसार ग़ैर-ज़रूरी बातचीत के बजाए लोगों को कोई भी कॉल रिसीव करते समय पहले ख़ुद का परिचय कराना चाहिए और कॉल करने वाले को अगर आप जानते हैं तो फ़ौरन उन्हें बता दें ताकि वो भी स्वयं का परिचय देने से बच जाएं.

उत्तर कोरिया में 2008 में मोबाइल सेवा शुरू की गई थी और आज की तारीख़ में वहां बीस लाख से ज़्यादा मोबाइल उपभोक्ता हैं. लेकिन उन्हें अंतरराष्ट्रीय कॉल करने की इजाज़त नहीं है और मोबाइल इस्तेमाल करने वाले ज़्यादातर लोग समाज के कुलीन वर्ग से आते हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)