भारत-अमरीका कई मुद्दों पर सहयोग बढ़ाएँगे

मोदी और ओबामा इमेज कॉपीरइट MEA

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने साझा बयान जारी किया है.

नरेंद्र मोदी की मुख्य बातें-

1. भारत में हम पॉलिसी (नीतियाँ) और प्रोसेस (प्रक्रिया) दोनों बदलने पर बल दे रहे हैं. भारत में आर्थिक अवसर तेज़ी से बढ़ रहे हैं. मुझे विश्वास है कि भारत और अमरीका के आर्थिक संबंधों में तेज़ी से विकास होगा.

2. मैंने राष्ट्रपति ओबामा से ऐसे क़दम उठाने के लिए कहा है जिनसे भारत की सेवा कंपनियाँ अमरीका में आसानी से पहुँच सकें.

3. हम दोनों असैनिक परमाणु सहयोग को आगे बढ़ाने और इससे जुड़े मुद्दों को जल्दी ही सुलझाने के लिए प्रतिबद्ध हैं. ये भारत की ऊर्जा ज़रूरतों के लिए बेहद ज़रूरी है.

4. भारत ट्रेड फेसिलिटेशन का समर्थन करता है लेकिन मेरी ये भी अपेक्षा है कि ऐसा समाधान निकले जो हमारी चिंताओं को भी दूर करें.

इमेज कॉपीरइट pib
Image caption मोदी ने ओबामा की गर्मजोशी के लिए शुक्रिया अदा किया.

5. हमने तय किया है कि इस विषय पर आपसी संवाद व सहयोग बढ़ाएंगे

5. हमने आतंकवाद की चुनौतियों पर विस्तार से विचार-विमर्श किया. आतंकवाद को रोकने और ख़ुफ़िया सहयोग बढ़ाने पर सहमति व्यक्ति की.

6. हमने अफ़ग़ानिस्तान की मदद जारी रखने पर भी चर्चा की.

7. हमने इबोला संकट पर चर्चा की और भारत इसके लिए एक करोड़ बीस लाख डॉलर देगा.

8. मैं अमरीकी रक्षा कंपनियों को भारत की रक्षा उत्पादन क्षमता बढ़ाने के लिए आमंत्रित करता हूँ.

9. मैंने राष्ट्रपति ओबामा और उनके परिवार को भारत आने का निमंत्रण दिया है.

10. मैं अमरीका, अमरीका में बसे भारतीयों को गर्मजोशी और स्वागत के लिए धन्यवाद देता हूँ.

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सैयद अकबरुद्दीन ने ट्वीट के ज़रिए बताया, "भारत और अमरीका मिलकर लश्करे तैयबा, जैशे मोहम्मद, डी-कंपनी और हक़्क़ानी नेटवर्क को मिलने वाली आर्थिक और कूटनीतिक मदद को रोकने पर काम करेंगे."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार