कोबानी: आईएस लड़ाकों पर ज़ोरदार हमले

  • 8 अक्तूबर 2014
कोबानी पर हवाई हमला इमेज कॉपीरइट AFP

अमरीका के नेतृत्व में सुरक्षा बलों ने सीरिया-तुर्की सीमा पर स्थित कोबानी शहर के आसपास इस्लामिक स्टेट के लड़ाकों पर अबतक का सबसे ज़ोरदार हवाई हमला किया है.

सीरियाई सुरक्षा बलों का कहना है कि हमला काफ़ी प्रभावशाली था. लेकिन इसे पहले किया जाना चाहिए था. लड़ाकू विमानों ने सुबह से लेकर दोपहर तक एक के बाद एक कई हमले किए.

वहीं तुर्की से मिल रही ख़बरों के मुताबिक कोबानी को बचाने की मांग को लेकर वहां हुए प्रदर्शन में प्रदर्शनकारियों और सुरक्षाबलों के बीच हुई झड़प में कम से कम 12 लोग मारे गए हैं.

टैंकों और लड़ाकों पर निशाना

इमेज कॉपीरइट Getty

अमरीकी रक्षा मुख्यालय पेंटागन का कहना है कि उन्होंने इस्लामिक स्टेट के टैंकों और लड़ाकों को निशाना बनाया है.

अमरीकी सेना की ओर से जारी ताज़ा बयान में कोबानी के आसपास सोमवार से मंगलवार के बीच पांच हवाई हमलों की बात कही गई है. लेकिन बयान में हमलों के समय को लेकर कोई जानकारी नहीं दी गई है.

कोबानी के नज़दीक मौजूद बीबीसी संवाददाता का कहना है कि हवाई हमलों की वजह से इस्लामिक स्टेट के लड़ाकों को आगे बढ़ने में दिक्कत आ रही है.

इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption पुलिस के साथ झड़पों में एक प्रदर्शनकारी मारा गया है

कोबानी में मौजूद एक कुर्द कमांडर ने बीबीसी को बताया है कि ये हवाई हमले अब तक का सबसे प्रभावी हमला साबित हुआ है. उनका यह भी कहना है कि हमले देरी से हुए.

पर्यवेक्षकों का कहना है कि कोबानी में पिछले तीन हफ़्ते से जारी युद्ध में कम से कम चार सौ लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं इस युद्ध की वजह से तुर्की से लगी सीमा से क़रीब एक लाख 60 हज़ार सीरियाइयों को अपना घर-बार छोड़ना पड़ा है.

विरोध-प्रदर्शन

इमेज कॉपीरइट AFP GETTY

इससे पहले सीरिया से लगी तुर्की की सीमा पर बड़ी संख्या में जमा हुए कुर्द लोगों ने नाराजगी जताईर है कि सरकार ने कोबानी को इस्लामिक स्टेट के हमलों से बचाने के लिए ठीक तरह से सैन्य मदद मुहैया नहीं कराई.

प्रदर्शनकारी कुर्दों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले दाग़े और पानी की तेज़ बौछार की. सीरिया के कम से कम छह शहरों में इस तरह के प्रदर्शन हुए हैं.

तुर्की के सैनिक और टैंक सीमा पर तैनात हैं लेकिन वे सीरिया में दाख़िल नहीं हुए हैं.

अमरीका के नेतृत्व में हालिया हवाई हमलों से इस्लामिक स्टेट के लड़ाकों को पीछे हटना पड़ा है लेकिन तुर्की के राष्ट्रपति चेतावनी दे चुके हैं कि 'कोबानी का पतन होने वाला है.'

इस्लामिक स्टेट के लड़ाके यदि कोबानी पर क़ब्ज़ा जमा लेते हैं तो सीरिया की तुर्की से लगती सीमा के एक बड़े हिस्से पर उनका नियंत्रण हो जाएगा.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार