इबोला: एड्स के बाद सबसे बड़ी चुनौती

इमेज कॉपीरइट EPA

अमरीका के आला चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर टॉमस फ्रीडेन का कहना है कि पश्चिम अफ्रीका में फैले इबोला वायरस का संक्रमण एचआईवी संक्रमण के बाद सबसे बड़ी चुनौती है.

अमरीका के सेंटर फॉर डिज़ीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के निदेशक डॉक्टर फ्रीडेन के मुताबिक इस वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए बहुत तेज़ी से काम करने की ज़रूरत है ताकि ये बीमारी अगली एड्स न बनने पाए.

इमेज कॉपीरइट PA
Image caption इबोला के संक्रमण से अब तक क़रीब चार हज़ार लोगों की मौत हो चुकी है

डॉक्टर फ्रीडेन इस समस्या से निपटने के लिए विश्व बैंक फोरम की एक उच्च स्तरीय बैठक को संबोधित कर रहे थे.

इस बीमारी से अब तक 3860 लोगों की मौत हो चुकी है जिनमें ज़्यादातर पश्चिम अफ्रीका के ही लोग हैं. मरने वालों में दो सौ स्वास्थ्यकर्मी भी शामिल हैं.

स्वास्थ्य अधिकारियों के मुताबिक गुरुवार को एक अस्पताल में लाइबेरिया के एक डॉक्टर की मौत हो गई.

इस हफ़्ते की शुरुआत में स्पेन की एक नर्स भी इबोला वायरस से संक्रमित हो गई थी और पश्चिम अफ्रीका के बाहर ये इसके संक्रमण का पहला मामला था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार